खातेदारी जमीन पर चली लालच की कुल्हाड़ी, हरे वृक्षों की अंधाधुंध कटाई

खातेदारी जमीन पर चली लालच की कुल्हाड़ी, हरे वृक्षों की अंधाधुंध कटाई
Spread the love

सिवाना तहसीलदार को ज्ञापन सौंपकर लकड़ी बरामद कर कार्यवाही करने की मांग

बालोतरा

जिले के उपखंड क्षेत्र के गांव कुम्हारो की ढाणी के खसरा नम्बर 141 अविभाजीत सयुक्त खातेदारी की भूमि में अवैध रूप से काटे गये रोहिडा व नीम के हरे वृक्षो की लकड़ी व वृक्षों को बरामद कर कानूनी कार्यवाही करवाने की मांग को लेकर सिवाना तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में विक्रमसिंह पुत्र जंतसिंह जाति राजपूत निवासी कुम्हारों की बाणी तहसील सिवाना जिला बालोतरा ने बताया कि पूनमसिंह पुत्र मोतीसिंह जाति राजपूत निवासी धरबला, गुमानसिंह पुत्र पूनमसिंह जाति राजपूत निवासी धरबला, भीखसिंह पुत्र पूनमसिंह जाति राजपूत निवासी घरबला ने हमारे सयुंक्त खातेदारी की कृषि भूमि गांव कुम्हारों की दाणी में खसरा नम्बर 141 की स्थित है। जिसमें पूर्व दिशा की ओर में 6 रोहिडा के हरे वृक्ष, 30 नीम के हरे बड़े बड़े वृक्ष खड़े थे। जिसे 8 मार्च से लगातार 11 मार्च 2024 तक इन सभी हरे वृक्षो की बिना किसी अनुमति के अवैध रूप से कटाई कर ट्रेक्टरों में डालकर ले गए। अत्याधिक मात्रा में काटी गये हरे वृक्षो की लकड़िया टहनीया व तने आदि आज भी मौजूद पड़े है। तथ्य छुपाने के लिए ये व्यक्ति यहां से हटाने को आमाद हैं। और अभी भी हरे वृक्षो की अन्धाधुन्ध कटाई मशीनो व जेसीबी से जारी हैं, इसकी सूचना सिवाना पुलिस थाना को भी दी गई थी। लेकिन अब तक कोई कार्यवाही नही की हैं, उन्होंने काटी गई लकड़ियां बरामद कर सख्त कार्यवाही करने की मांग की।

संपादक: भवानी सिंह राठौड़ (फूलन)

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!