सीएमएचओ ने मोकलसर पीएससी केंद्र का किया औचक निरीक्षण

सीएमएचओ ने मोकलसर पीएससी केंद्र का किया औचक निरीक्षण
Spread the love

निरीक्षण के दौरान बिजली गुल होते ही परेशान नजर आए मरीज, बगले झांकते नजर आए जिम्मेदार

मोकलसर

सिवाना उपखंड क्षेत्र के मोकलसर कस्बे में स्थित पीएचसी केंद्र में पिछले आठ माह से चिकित्सक नही होने की खबरे मीडिया द्वारा लगातार प्रमुखता से प्रकाशित की जा रही थी। खबरें प्रकाशित होने के बाद प्रशासन हरकत में आया। और उसके बाद से एक के बाद एक अस्पताल के दौरे कर वर्तमान स्थिति का जायजा लेने पंहुच रहे हैं। बता दें कि गत 8 मई को बालोतरा जिला कलेक्टर सुशील कुमार यादव ने मोकलसर पीएचसी केंद्र का औचक निरीक्षण कर अस्पताल में दिखी अव्यवस्थायों में सुधार के आवश्यक दिशा निर्देश दिए थे। इसी कड़ी में गुरुवार को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी वांकाराम चौधरी ने भी पीएचसी केंद्र का औचक निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। वही मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं मिल सकें, इसके लिए सीएमएचओ चौधरी मरीजों से रूबरू हुए। इस दौरान चौधरी ने अस्पताल में उपस्थिति रजिस्टर, ओपीडी, एक्सरे कक्ष, महिला एवं पुरूष वार्ड, भंडार कक्ष, प्रसव कक्ष, ऑपरेशन कक्ष, प्रयोगशाला एवं टीकाकरण कक्ष सहित पूरे परिसर का अवलोकन किया। साथ ही ओपीडी में उपस्थित रोगियों से व्यवस्था के बारे में जानकारी प्राप्त की। वही साफ- सफाई व्यवस्था निरन्तर बनाए रखने व पार्किंग व्यवस्था को सुधारने के निर्देश प्रदान किए। उन्होने स्वास्थ्य सुविधाओं की जानकारी लेते हुए व्यवस्थाओं में सुधार करने की हिदायत दी। इस दौरान समस्त स्टाफ मौजूद रहे।

 

निरीक्षण के दौरान बिजली गुल परेशान मरीज, इनवर्टर ठप

गुरुवार को सीएमएचओ मोकलसर पीएससी केंद्र पंहुचे, उस दरम्यान बिजली गुल हो गई, अस्पताल में बिजली की वैकल्पिक व्यवस्था नही होने की वजह से मरीज परेशान होते नजर आए। ऐसे में अगर बिजली गुल होने पर वैकल्पिक व्यवस्था की जाएं तो मरीजों को परेशानी का सामना नही करना पड़ेगा। क्योंकि इस भीषण गर्मी की मार हर कोई झेल रहा हैं। बता दे कि अस्पताल में लगा इनवर्टर भी बिजली गुल होने पर अपनी ठप हो जाता है, ऐसे में बड़ा सवाल उठता है की आखिर दर्जनों गांवों की सुविधा के लिए बना पीएचसी में दूसरी सुविधा कैसी मिलती होगी इसका आप अंदाजा लगा सकते है। वहीं जिनके कंधों पर व्यवस्था का जिम्मा हैं वो अधिकारियों के पंहुचने पर बगले झांकते नजर आते हैं मगर इनके द्वारा सुधार की दिशा में कोई ठोस कदम नही उठाया जा रहा हैं, नतीजन परेशानी अस्पताल से जुड़ी आबादी उठा रही हैं।

 

गर्भवती महिलाओं को मिली राहत, टीके उपलब्ध

गत दिनों मीडिया द्वारा खबरें प्रकाशित होने के बाद चिकित्सा विभाग हरकत में आया और तुरंत प्रभाव से गर्भवती महिलाओं के लिए टिके की व्यवस्था कर राहत प्रदान की। गौरतलब है कि गर्भवती महिलाओं को नियमित टीकाकरण नहीं होने से उन्हें अस्पताल के चक्कर काटने पड़ रहे थे। टिके उपलब्ध होने से गर्भवती महिलाओं को राहत मिली हैं, अब प्रसूताओं को समस्या का सामना नही करना पड़ेगा।

संपादक: भवानी सिंह राठौड़ (फूलन)

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!