कांस्टेबल निरंजनसिंह को मिले शहीद का दर्जा, जिला कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन

कांस्टेबल निरंजनसिंह को मिले शहीद का दर्जा, जिला कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन
Spread the love

बालोतरा

 

जिला कलेक्टर कार्यालय में वीर दुर्गादास राठौड़ सेवा समिति व श्री राष्ट्रीय करणी सेना के बैनर तले सिरोही जिले के सरूपगंज थाना क्षेत्र में कार्यरत कांस्टेबल स्व. निरंजनसिंह चांदावत जो कि महाशिवरात्री की रात को लौटना गांव के महादेव मंदिर में असामाजिक तत्व अपराधियों से लडते हुए राजस्थान पुलिस के ध्येय वाक्य अपराधियों में भय व आमजन में विश्वास को चरितार्थ करते हुए अपने कर्तव्य निर्वहन के दौरान वीरगति को प्राप्त हुए। इस पर सामाजिक कार्यकर्ता नरपतसिंह उमरलाई ने बताया कि इस लोकतंत्र में आमजन अपने आपको असुरक्षित समझ रही है क्योंकि अपराधी पुलिस के साथ ऐसी घटना को अंजाम दे सकता है आमजन के साथ ऐसी घटना होना आम बात है राजस्थान सरकार तुरंत ही ऐसे मामलों पर अंकुश लगाए। उक्त प्रकरण में त्वरित संज्ञान लेते हुए राजस्थान सरकार ने आर्थिक पैकेज व एक आश्रित को सरकारी नौकरी की घोषणा की इसके लिए सर्व समाज व राजपूत समाज आपका हार्दिक आभार व कृतज्ञता प्रकट करते हैं, तथा उक्त कांस्टेबल स्व. निरंजनसिंह चांदावत को शहीद का दर्जा दिलवाने व सिरोही में चांदावत का स्टेच्यू बनाने तथा उनके हत्यारों दोषियों को कठोरतम सजा दिलवाने की मांग करते हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री व राजस्थान सरकार से भी मांग की। इस दौरान रेवेंद्रसिंह होटलु, देवीसिंह इशरोल, मनोहरसिंह उमरलाई, गोविंदसिंह जाजवा, महेंद्रसिंह मांगता, गंगासिंह उतरनी, हमीरसिंह सोढा, चन्द्रवीरसिंह राठौड़, पुष्पेंद्रसिंह चेतरोड़ी, ऊंकारसिंह झाला, विकास मीना, रावतसिंह राठौड़, धनसिंह राजपुरोहित आदि मौजूद रहें।

संपादक: भवानी सिंह राठौड़ (फूलन)

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!