करीब दो माह गुजरने के बावजूद पुलिस कार्यवाही नही।

करीब दो माह गुजरने के बावजूद पुलिस कार्यवाही नही।
Spread the love

भय के वातावरण में जीने को मजबूर फरियादी।

फरियादी को जान से मारने की कोशिश कर चुके हैं आरोपी।

गुड़ामालानी 

आरोपी से जान बचाने की दो माह पूर्व पुलिस से गुहार लगाने के बावजूद पुलिस नामजद आरोपी के विरुद्ध अभी तक कोई कार्यवाही नही की है। मजबूरन फरियादी भय के वातावरण में जीने को मजबूर है। फरियादी श्रवणकुमार जाति सुथार निवासी ड्युकियो की बेरी मीठी बेरी नोखड़ा को जान से मारने की नीयत गत 26 मार्च को आरोपी ने अन्य सहयोगी के उनके घर पर जान से मारने की नीयत से टेक्टर दौड़ाया। समय रहते फरियादी ने छुपकर जान बचाई। वरना उन्हें आरोपी टेक्टर से कुचल सकते थे।

 

यह दर्ज कराया थाने में मामला

श्रवण कुमार जाति सुथार नोखड़ा दिनाक 26 मार्च 2024 धुलेटी के दिन अपने खेत पे गया था। रात को अपने ट्यूबवेल के पास सो रहा था। उसी रात को करीब 12:30 बजे दिलीप पुत्र सत्ताराम लेगा व एक अन्य सहयोगी व्यक्ति शराब के नशे और पुरानी रंजिश के चलते मुझे जान से मारने के लिए ट्रेक्टर लेके फरियादी के ट्यूबवेल का गेट तोड़ के ट्रेक्टर अंदर घुसाया। तो फरियादी म डर के मारे जान पर बन आने के कारण वहां से भाग छुपकर जान बचाई। जब फरियादी वहां नहीं मिला। तो आरोपी ने फरियादी की खड़ी मोटरसिकल को ट्रेक्टर से कुचल दिया। फरियादी तो वहां से जान बचा के भाग गया। लेकिन आरोपी ने खड़ी मोटरसाइकिल में पूरा नुकसान कर गए। फिर आरोपी ने इधर उधर फरियादी को ढूंढा। फरियादी डर के मारे छुपा रहा। आरोपी ने जाते जाते एक फिर से मोटरसाइकिल को टक्कर मार के और गाली गलोच करते हुए ये बोलते हुए निकला। कि में सब को देख लूंगा। तुम लोग मेरा कुछ नही कर सकते मेरी पहुंच बहुत ऊपर तक है। आरोपी पहले भी फरियादी के ट्यूबवेल से चोरी करके गया था। जिसके लिए मेने इसके परिवार वालों को समझाइश की गुहार की थी। तब से आरोपी रंजिश रखता है। व फरियादी को खेत में आते जाते समय मारने पीटने की और जन से मारने की धमकियां कई बार दे चुका है।

संपादक: भवानी सिंह राठौड़ (फूलन)

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!