सीमा विवाद के चलते मुख्य रास्ते का रुका विकास

सीमा विवाद के चलते मुख्य रास्ते का रुका विकास
Spread the love

गंदे पानी के जमाव से आमजन परेशान, पार्षद एक-दूसरे पर डाल रहे जिम्मेदारी

जालोर

रोड पर पानी जमा होने से लोगों को आने-जाने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। पार्षद से शिकायत करते हैं तो मामला दूसरे वार्ड का होने का हवाला देकर दूसरे पार्षद के पास भेज दिया जाता है, दूसरा पार्षद भी वार्ड अलग होने का हवाला देता है। जालोर में नाली का विकास तीन वार्डों के सीमा विवाद में फंस गया है। शहर के लालपोल का मुख्य रास्ता तीन वार्ड की सीमा में फंसा है। नतीजा ये कि रास्ते पर गंदगी व सीवरेज का जमा रहता है। रास्ता चलने लायक भी नहीं रहा। लोगों ने कई बार पार्षद व नगर परिषद को शिकायत की लेकिन समाधान नहीं निकला। स्थानीय निवासी रविन्द्र ने बताया की लालपोल में जाने वाली मुख्य गली वार्ड संख्या 7 व 8 की सीमा पर बनी है। गली में सीवरेज का पानी भरा रहता है। पार्षद से शिकायत की तो जिम्मेदारी एक दूसरे पर डालते हैं, समाधान नहीं करते। वार्ड संख्या 7 के पार्षद विक्रम सोलंकी ने बताया कि लालपोल में नालियां टूटी हुई हैं। सीवरेज ओवरफ्लो हो रहे हैं। इससे गंदा पानी आ रहा है। वार्ड संख्या 8 का मामला है जिसकी पार्षद सुशीला मेघवाल हैं। वार्ड संख्या 8 के पार्षद पति भरत भादरू ने बताया कि वार्ड संख्या 6 से सीवरेज का पानी आ रहा है। गली में दोनों वार्ड लगते हैं। इसे लेकर नगर परिषद में शिकायत की है, समाधान नहीं किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि गली में हो रहे अतिक्रमण व सड़क निर्माण को लेकर जालोर विधायक जोगेश्वर गर्ग को भी कई बार अवगत कराया है।

संपादक: भवानी सिंह राठौड़ (फूलन)

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!