संगठन के बिना समाज का विकास संभव नही: आत्मानन्द महाराज

संगठन के बिना समाज का विकास संभव नही: आत्मानन्द महाराज
Spread the love

महाशिवरात्रि पर्व पर दो दिवसीय भक्ति संध्या व सामाजिक जागृति समारोह का हुआ आयोजन

समदड़ी

क्षेत्र के जालमपुरा खंडप स्थित श्री वैदिक सनातन आश्रम में हर वर्ष की भाँति इस वर्ष भी महाशिवरात्रि के पावन पर्व दो दिवसीय विशाल भजन संध्या व सामाजिक जागृति समारोह का आयोजन श्री वैदिक सनातन आश्रम के मठाधीश आत्मानन्द सरस्वती महाराज के सानिध्य में सम्पन्न हुआ। रात्रि भजन संध्या में जोधपुर आकाशवाणी लोक भजन गायक ढल्लूराम चौखा एवं रामसा कडेला लोहावट, गुड़िया पंवार डंडाली एण्ड पार्टी द्वारा सुमधुर भजनों की प्रस्तुतियां दी गई। जिसमे दूर दराज से मेघवाल समाज के काफी गांवों से धर्मप्रेमी, सज्जन, भक्तजन, बुजुर्ग, शिक्षाविद, प्रबुद्ध नागरिक सहित सर्व समाज के लोगों ने भाग लिया। रात्रि जागरण में शरीक हुए रणजीत आश्रम बालोतरा के महंत अमृत राम महाराज, मीठा महाराज, समदड़ी प्रधान संतोष जीनगर, राष्ट्रीय मूलनिवासी संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष ताराराम मेहना, भेरूलाल नामा, प्रधान प्रतिनिधि मुकेश जीनगर सहित कार्यक्रम में आए अतिथियों का आयोजन कमेटी द्वारा बहुमान किया गया। इस दौरान कार्यक्रम को संबोधित करते हुए आत्मानंद महाराज ने कहा कि बढ़ती नशे की प्रवृति सुसंस्कृत समाज के विकास मे बड़ा बाधक है। नशाखोरी समाज की सबसे बड़ी बुराई है। नशे की बुराई को दूर करने के लिए समाज को आगे आना होगा। हमारी भी जिम्मेदारी है कि हम अपने बच्चे से पूछे कि वह नशे की राह पर क्यों जा रहा है? उसकी परेशानी क्या है? माता पिता अपने बच्चों से सही संवाद रखें। नशे को जड़ से मिटाने के लिए समाज को आगे आना आवश्यक है। साथ ही कहा कि किसी भी समाज का विकास संगठन के बिना संभव नही हैं इसलिए हमें संगठित होकर समाज के हित में अपनी महती भूमिका निभानी चाहिए ताकि समाज का पूर्णतया विकास हो सकें। वहीं ताराराम मेहना ने कहा कि किसी भी समाज के विकास के लिए शिक्षा जरूरी है। समाज के पदाधिकारियों की यह जिम्मेदारी है कि वे समाज के लोगों को शिक्षा के क्षेत्र में आगे बढ़ाएं, जिससे समाज विकास की राह पर आगे बढ़े, साथ ही कहा कि समाज व्यक्ति को स्वरोजगार के लिए प्रेरित करें तो समाज का वास्तविक विकास होगा। साथ ही मेहना ने मताधिकार का महत्व भी विस्तार से समझाते हुए अपने मत का सही प्रयोग करने का आहान किया। भजन संध्या समारोह में अतिथियों, भामाशाहों व कार्यकर्ताओं का साफा, माला व स्मृति चिन्ह देकर बहुमान किया गया। कार्यक्रम में बालोतरा, जालोर सहित चार जिलों के भक्तजन शामिल हुए। कार्यक्रम का मंच संचालन अध्यापक प्रवीण कुमार नोरवा ने किया।

संपादक: भवानी सिंह राठौड़ (फूलन)

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!