रामदेवरा मंदिर में होंगे विकास कार्य

रामदेवरा मंदिर में होंगे विकास कार्य
Spread the love

गोडावण संरक्षण के लिए टनल का निर्माण, लोक कलाकारों को मिलेगी पेंशन

जैसलमेर

राजस्थान की उपमुख्यमंत्री और वित्त मंत्री दीया कुमारी ने गुरुवार को विधानसभा में अंतरिम बजट पेश किया। बजट में प्रदेश के 20 मंदिरों व आस्था केन्द्रों का विकास कार्य करीब 300 करोड़ से किया जाएगा। इनमें रामदेवरा इस स्थित बाबा रामदेव का मंदिर भी शामिल है। इसके साथ ही गोडावण संरक्षण के लिए टनल का निर्माण व लोक कलाकारों को पेंशन देने का भी प्रावधान इस बजट में किया गया है। अन्तरिम बजट में युवाओं के लिए 70 हजार नई भर्तियों की घोषणा की गई है। इसके साथ ही बुजुर्ग और महिलाओं की पेंशन में 150 रुपए का इजाफा किया गया है। वित्त मंत्री के अनुसार किसानों के लिए गोपाल क्रेडिट कार्ड स्कीम भी शुरू होगी और 5 लाख गोपालकों को कर्ज दिया जाएगा। इसके साथ ही राजस्थान के 5 लाख घरों में सोलर प्लांट भी लगाए जाएंगे। वित्त मंत्री ने कहा कि प्रदेश में सड़कों के विकास के लिए 1500 करोड़ रुपए का प्रावधान भी किया जा रहा है। उन्होंने कहा पिछली सरकार की गलत नीतियों के फलस्वरूप में विरासत में बड़ा कर्ज मिला है।

रामदेवरा मंदिर में होंगे विकास कार्य

दीया कुमारी ने बजट पेश करते हुए कहा कि प्रदेश में आस्था के केन्द्रों व मंदिरों पर सरकार करीब 300 करोड़ रुपए खर्च करेगी। ऐसे प्रदेश के 20 आस्था केन्द्रों व मंदिरों का चयन किया गया है। इसमें जैसलमेर के रामदेवरा स्थित लोकदेवता बाबा रामदेव के मंदिर को भी शामिल किया गया है। गौरतलब है कि हर साल लाखों की संख्या में रामदेवरा मंदिर में देशभर से श्रद्धालु आते हैं। ऐसे में मंदिर के विकास कार्य होने से मंदिर का सौंदर्यीकरण होगा।

कलाकारों को मिलेगी पेंशन

18 से 45 आयु वर्ग के लोक कलाकारों के नाम से 60 से 100 रुपए प्रतिमाह प्रीमियम देने पर 60 वर्ष की आयु पूरी करने पर प्रतिमाह 2 हजार रूपए की पेंशन मिलेगी। इस दौरान सरकार द्वारा 400 रुपए प्रतिमाह प्रति व्यक्ति पर प्रीमियम राशि का वहन किया जाएगा। इस योजना में 350 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। गौरतलब है कि जैसलमेर के लोक कलाकारों का देश विदेश में लोक संगीत में डंका बजता है। यहां के लोक कलाकारों ने देश विदेश में अपनी लोक कला का लोहा मनवाया है। ऐसे में इनकी पेंशन शुरू करने से कई कलाकारों को बहुत लाभ मिलेगा। इसके साथ ही गोडावण संरक्षण के लिए टनल का निर्माण करवाने की योजना भी बजट में शामिल की गई है, जिससे गोडावण संरक्षण के कामों में तेजी आएगी।

संपादक: भवानी सिंह राठौड़ (फूलन)

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!