दिव्यांग बच्चों की शिक्षा भामाशाहों के सहयोग से ही सम्भव: सिद्धार्थ दीप

दिव्यांग बच्चों की शिक्षा भामाशाहों के सहयोग से ही सम्भव: सिद्धार्थ दीप
Spread the love

बालोतरा

सवेरा संस्था द्वारा संचालित स्नेह मनोविकास विद्यालय में आयोजित भामाशाह सम्मान समारोह एवं प्रवेश उत्सव के दोरान मुख्य अतिथि सिद्धार्थ दीप अपर सेशन न्यायधीश एवं सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण बालोतरा ने सम्बोधन करते हुए कहा कि दिव्यांग बच्चों में भी प्रतिभाएं होती है उनमें भी हुन्नर होता हे, कुछ करने का जज्बा भी होता है लेकिन साधन सुविधाओं के अभाव में संतोषप्रद परिणाम नहीं दे पाते। दिव्यांग बच्चों की शिक्षा और सेवाओं के विस्तार में भामाशाहों को आगे आना होगा तभी दिव्यांगों के लिये बैहतर सुविधाओं और शिक्षण की व्यवस्था सम्भव होगी। उन्होने विद्यालय में सहयोग करने वाले सभी भामाशाहों को साधूवाद दिया एवं इस पुनित कार्य में सतत् जुुडे रहने का आवहान किया। इस अवसर पर अपर सेशन न्यायधीश ने विधि से संघर्ष कर रहे लोगों की सहायता हेतू एवम माननीय राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण व राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा चलाई जा रही योजनाओं की विस्तार से जानकारी प्रदान की एवं दिव्यांग बच्चों की शिक्षा में जिला प्रशासन से सहयोग का भरोसा दिलाया।

कार्यक्रम में संस्था के सचिव सत्यनारायणन ने बताया कि संस्था द्वारा संचालित इस विद्यालय ने आज पांच वर्ष पूर्ण कर लिये है वर्तमान में 40 मानसिक दिव्यांग बालक बालिकाए अध्ययनरत है जिन्हे सभी सुविधाएं यथा थेरेपी, शिक्षण , प्रशिक्षण,गणवेश एवं भोजन सुविधा भामाशाहों द्वारा उपलब्ध बच्चों को निशुल्क प्रदान की जा रही है।

कार्यक्रम पधारे सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के सहायक निदेशक घेवर चन्द प्रजापत ने अपने सम्बोधन में कहा कि सरकार द्वारा संचालित सभी योजनाओं का लाभ जन आधार द्वारा दिया जाता है अतः अपने जन अधार को समय समय पर ठीक करवाते रहे इसके अभाव पात्र दिव्यांगों तक योजनाओं का लाभ नही मिल पाता। प्रजापत ने संस्था द्वारा संचालित विद्यालय को यथा सम्भव सरकारी मदद का आश्वासन दिया।

कार्यक्रम में विशिष्ठ अतिथि महावीर इन्टरनेशनल के अन्राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एंव स्नेह मनोविकास विद्यालय के संरक्षक ओमप्रकाश बांठियां ने अपने सम्बोधन में कहा कि संस्था के प्रयासों से दिव्यांग बच्चों के लिये किये जा रहे कार्य सराहनीय है इस बेहतर कार्य के बदोलत ही भामाशाह आगे आकर सहयोग प्रदान कर रहे है। बांिठंया ने आये हुए सभी मेहमानो का आभार व्यक्त किया।

कार्यक्रम में आये भामाशाहों को भामाशाह सम्मान पत्र प्रदान कर उन्हे सम्मानित किया गया । इस अवसर विद्यालय के बच्चों को सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तूत किया। मंच संचालन पार्षद हीरालाल गोयल ने किया। कार्यक्रम में वाचसपति व्यास, अध्यापक सुनील कुमार, देवीलाल मंजुदेवी ने सहयोग प्रदान किया।

संपादक: भवानी सिंह राठौड़ (फूलन)

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!