खबर का असर:-पानी की टँकी से सटकर गुजर रहे हाईटेंशन तार, एईएन ने किया मौका निरिक्षण 

खबर का असर:-पानी की टँकी से सटकर गुजर रहे हाईटेंशन तार, एईएन ने किया मौका निरिक्षण 
Spread the love

एईएन बोले: 50 फीसदी राशि वहन करेगा विभाग, शेष राशि करें जमा, तभी होगा समस्या का निस्तारण

मायलावास

विधुत विभाग की अनदेखी के कारण गांव के मुख्य गौर चौक में राउमावि विद्यालय के पास बनी जलजीवन मिशन की पेयजल टंकी के ऊपर से गुजरने वाले हाई टेंशन विधुत तार ग्रामीणों और विद्यालय में पढ़ने वाले छात्रों के लिए परेशानी का सबब बने हुए है। गौरतलब है कि उपखंड क्षेत्र के मायलावास गांव में जल जीवन मिशन के अंतर्गत बनी टंकी से मात्र 5-6 फुट की ऊचाई से विधुत हाईटेंशन तार गुजर रहे हैं जो कि कभी भी हादसे का सबब बन सकते हैं। इस पर बुधवार को सिवाना विद्युत विभाग के सहायक अभियंता सौरभ सिंह और विद्युत विभाग की टीम ने मौके पर पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया। बता दें कि जहां ट्रांसफार्मर रखा हुआ हैं वो जगह भी क्षतिग्रस्त हो चुकी हैं।यहाँ पर पिछले साल बारिश में करंट की वजह से लगभग 7 गौवंश काल के गाल में समा चुके हैं। ऐसे में हाईटेंशन विधुत तार की वजह से कब बड़ा हादसा हो जाएं इससे इनकार नहीं किया जा सकता। इस दौरान पूर्व सरपंच बाबूलाल माली, लाइन मेन गोमाराम, केसाराम, रमेश कुमार सहित ग्रामीण मौजूद रहे।

 

ग्राम पंचायत में किया स्वागत

विद्युत संबधित समस्याओं को लेकर निरीक्षण पर पंहुचे सिवाना एईएन सौरभ सिंह का मायलावास ग्राम पंचायत भवन में सरपंच अशोकसिंह राजपुरोहित सहित अन्य ग्रामीणों द्वारा साफा पहनाकर स्वागत किया गया।

 

इनका कहना

विद्युत विभाग के द्वारा इस जनहित के कार्यों मे लाइन शिफ्टिंग मे होने वाले खर्च मे 50 फीसदी राशि निगम वहन कर सकता है। वही शेष 50 फीसदी राशि जमा करवाकर ही इस लाइन को दूसरी जगह शिफ्ट किया जा सकता है।

सौरभ सिंह, एईएन विद्युत विभाग

 

एक माह पूर्व पंचायत समिति की बैठक सहित कई बार विद्युत विभाग के अधिकारियों को अवगत करवाने के बावजूद भी विधुत तार नही हटाए गए हैं, एक तरफ सरकारी विद्यालय है जहाँ 700 से अधिक छात्र-छात्राए अध्ययनरत है वही दूसरी और हाईटेंशन तार के निचे की तरफ गौर का चौक हैं जहां प्रतिदिन सैकड़ों की तादाद में गाये विचरण करती हैं, बारिश के मौसम में जलभराव होता हैं जो कि कई दिनों तक सूखता नही हैं।

अशोकसिंह, राजपुरोहित

मायलावास सरपंच

संपादक: भवानी सिंह राठौड़ (फूलन)

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!