11 सूत्री मांगों को लेकर किसानों का 3 दिनों से धरना प्रदर्शन जारी

11 सूत्री मांगों को लेकर किसानों का 3 दिनों से धरना प्रदर्शन जारी
Spread the love

बोले: सरकारें बदल गई लेकिन किसानों की समस्या का नही हुआ समाधान

बाड़मेर

लंबे समय से संघर्ष कर रहे हैं, सरकारें बदल गईं लेकिन किसानों की समस्याएं जस की तस हैं। यह कहना है बाड़मेर के भीयाड़ उपतहसील के किसानों का। अपनी 11 सूत्री मांगों को लेकर उप तहसील कार्यालय के सामने तीन दिन से किसान धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। भारतीय किसान संघ के बैनर तले धरना तीसरे दिन शनिवार को भी जारी रहा। किसान कृषि कार्य के लिए 6 घंटे और घरेलू 24 घंटे लाइट, 132 केवी जीएसएस शिव निर्माण जल्द कराने और साल 2022 में रबी फसल खराबे का अनुदान जल्द देने की मांग कर रहे हैं। भारतीय किसान संघ की ओर से 8 फरवरी को भीयाड़ उप तहसील के किसानों ने अपनी मांगों को लेकर धरना शुरू किया था। आरोप है कि मांगों की ओर डिस्कॉम और प्रशासन ध्यान नहीं दे रहा है। समय पर लाइट नहीं मिल पाने के कारण रबी की फसलों को पानी नहीं दे पा रहे हैं। किसानों का कहना है कि आज से तीन साल पहले भी धरना दिया गया था। लेकिन हमारी मांगों पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है। आरोप है कि नेताओं ने लीपापोती कर धरना उठाने का काम किया लेकिन समस्या ज्यों की त्यों बनी हुई है। किसान गिरधारीदान का कहना है कि किसान देश की रीढ़ है। लेकिन सरकार व नेताओं किसानों की मांगों पर ध्यान नहीं दे रही है। इस बार किसी आर-पार की लड़ाई करने को तैयार है। जब तक हमारी मांगें नहीं मानी जाएगी। हमारा धरना-प्रदर्शन लगातार जारी रहेगा। यह सरकारें आती है और जाती है और गुमराह करने का काम करती है। जब तक हमारी मांगों को नहीं माना जाएगा और शिव जीएसएस का निर्माण नहीं होगा हमारा प्रदर्शन यू ही चलता रहेगा। बीती रात किसान मोहन गोदारा काश्मीर, अमृत चौटीया रातड़ी, गिरधारीदान धारवी, रामाराम जाखड़ चितरोली, कोशलाराम मूढ़ चितरोली, पृथ्वीराजसिह भियाड़, चैनाराम पोटलियां रातडी़, नारणाराम गोदारा बुढातला, ताजाराम सारण कानासर, नरेश बेरड़ रामदेरीया धरने पर बैठे रहे।

संपादक: भवानी सिंह राठौड़ (फूलन)

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!