महिलाओं और किशोरियों को जागरूकता का दिया संदेश।

महिलाओं और किशोरियों को जागरूकता का दिया संदेश।
Spread the love

बाड़मेर

उजास जागरूकता कार्यक्रम आदित्य बिरला एजुकेशन ट्रस्ट और धारा संस्थान बाड़मेर के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित किया गया। धारा संस्थान से फील्ड सुपरविजन कर रहे प्रकाशसिंह ने बताया कि उजास एक सामाजिक प्रयास है। जो परिवर्तन-केंद्रित दृष्टिकोण के साथ युवा और भावी पीढ़ियों को बढ़ावा देता है। गहरी जड़ें जमा चुकी समस्याओं, कलंक, वर्जनाओं और चुनौतियों पर काम करते हुए जो मानसिक स्वास्थ्य और प्रजनन संबंधी समस्याओं तक सीमित हैं। उजास खुद को एक बदलाव के रूप में देखता है। और हम जागरूकता और शिक्षा के माध्यम से इसे आगे बढ़ाने के लिए प्रयत्न कर रहे हैं।

इस जागरुकता अभियान का मुख्य उद्देश्य मासिक धर्म की गरीबी को कम करके और किशोरी लड़कियों और महिलाओं को प्रभावी मासिक धर्म स्वास्थ्य और स्वच्छता प्रबंधन प्रथाओं को अपनाने के लिए सशक्त बनाकर राजस्थान में मासिक धर्म स्वास्थ्य परिदृश्य में एक सकारात्मक और स्थायी प्रभाव पैदा करना है। तथा सुपरवाइजर विमला वडेरा ने बताया कि जिले के अलग-अलग स्थान पर गरीब तबके के समुदाय को जागरूक कर रहे है जिसमे मासिक धर्म को लेकर अलग अलग गतिविधियों के माध्यम से संदेश दे रहे है। इससे समुदाय में एक अच्छी सोच और रूहानियत पैदा हो रही है। इसके साथ साथ पहला सुख निरोगी काया के संबध में विमला ने बताया की अगर हमारा शरीर और हमारे दैनिक जीवन में काम आने वाली वस्तुएं साफ सुथरी होनी बेहद आवश्यक है। तभी हमारा जीवन एक उजाले की किरण को हासिल कर सकता है। इसके साथ शनिवार को सेक्टर मीटिंग में भाग लिया। और मीटिंग में उपस्थित आगनवाड़ी कार्यकर्ता,आशा,सहायिका का एक प्रैक्टिकल शेसन लिया गया। जिसमे उन्हें सम्पूर्ण रूप से बताया की हर समुदाय तक हमारी सोच और हमारी नीति पहुंचे। ताकि जो सपना हमने संजोया हे वो साकार हो सके।

संपादक: भवानी सिंह राठौड़ (फूलन)

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!