परमात्मा की प्रतिष्ठा का हिस्सा बनना सौभाग्य की बात: जिनमनोज्ञसूरीश्वर

परमात्मा की प्रतिष्ठा का हिस्सा बनना सौभाग्य की बात: जिनमनोज्ञसूरीश्वर
Spread the love

श्री शांतिनाथ जिनालय की अंजनशलाका प्राण प्रतिष्ठा पंचानिका महोत्सव का हुआ आगाज

धोरीमन्ना

श्री शांतिनाथ जैन श्री संघ धोरीमन्ना के तत्वाधान में धोरीमन्ना नगर में श्री शांतिनाथ जिनालय की अंजनशलाका प्राण प्रतिष्ठा के उपलक्ष में पंचान्हिका महोत्सव का आगाज प्रथम दिन बुधवार को आचार्य श्री जिनमनोज्ञसूरीश्वरजी म.सा. की पावन निश्रा में गणिवर्य कमलप्रभसागरजी म.सा., साध्वी डॉ. विधुत्प्रभा श्रीजी म.सा., साध्वी हेमरत्ना श्रीजी म.सा., साध्वी विनितयशा श्रीजी म.सा., साध्वी श्रुतदर्शना श्रीजी म.सा., साध्वी मुक्तांजना श्रीजी म.सा., साध्वी नीतिगुणा श्रीजी म.सा., साध्वी कैवल्यप्रिया श्रीजी म.सा., आदि ठाणा के पावन सानिध्य में कार्यक्रम का आगाज हुआ। इस पर संघ धोरीमन्ना के अध्यक्ष बाबुलाल लालण ने बताया कि श्री शांतिनाथ जिनालय की अंजनशलाका प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव पांच दिवसीय पंचान्हिका महोत्सव के आगाज के प्रथम दिन कई मण्डपों के उदघाटन के साथ कार्यक्रमों का शुभारम्भ हुआ। जिसमें पुरे दिन धार्मिक कार्यक्रमों के आयोजन हुए जिसमें जैन धर्मावलम्बियों जमकर आनन्द लिया। बुधवार को प्रथम दिन आचार्यश्री की पावन निश्रा व गणिवर्य व साधु-साध्वीवृंद की पावन सानिध्य में वरघोड़े व ढोल ढमाके के साथ धर्मसभा स्थल पहुंचे। जहां लाभार्थी परिवारांे द्वारा नवकारसी स्वामीवात्साल्य का आयोजन हुआ। धर्मसभा को सम्बोधित करते हुए आचार्य जिनमनोज्ञसूरीश्वरजी म.सा. ने कहा कि धोरीमन्ना का भाग्य कर्म बडा उज्जवल है कि श्री शांतिनाथ भगवान इस धरा पर विराजमान होंगे। इस दौरान बड़ी संख्या में जैन धर्मावलम्बी एवं श्रद्धालुगण मौजूद रहे। संघ उपाध्यक्ष नेमीचन्द बोथरा ने बताया कि पांच दिवसीय पंचान्हिका प्रतिष्ठा महोत्सव के प्रथम दिन मन्दिर परिसर में विधिकारक सुनिल भाई दिशा द्वारा मंत्रोच्चार के साथ विधिविधान व संगीतकार दिलीप दिलबर द्वारा भजनों के साथ कई धार्मिक आयोजन हुए। वहीं भक्ति संध्या में नरेन्द्र वाणीगोता मुम्बई ने भजनों की शानदार प्रस्तुतियां दी।

 

आज ये होंगे कार्यक्रम

जैन श्री संघ धोरीमन्ना के सचिव गौतमचन्द सेठिया ने बताया कि गुरूवार को प्रातः 9 बजे से भव्य प्रभुजी का जन्म कल्याणक विधान, च्यवन कल्याणक विधान एवं जन्म कल्याणक महोत्सव, स्वपन दर्शन, स्वप्न फल कथन एवम छप्पन दिककुमारी महोत्सव, इन्द्रासन कम्पन्न, सुघोषघंट वादन, श्री पार्श्वनाथ पंच कल्याणक पूजन, बड़ी सांझी के साथ रात्रि में नरेन्द्र वाणीगोता मुम्बई द्वारा भव्य भक्ति संध्या का आयोजन होगा।

संपादक: भवानी सिंह राठौड़ (फूलन)

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!