डेयरी विकास एवं महिला स्वरोजगार को बढ़ावा देने हेतु शयोर केयर्न फाउंडेशन का साझा प्रयास

डेयरी विकास एवं महिला स्वरोजगार को बढ़ावा देने हेतु शयोर केयर्न फाउंडेशन का साझा प्रयास
Spread the love

30 दिवसीय निशुल्क महिला सिलाई कटाई प्रशिक्षण केंद्र गोलासन की विजिट

बाड़मेर

सिलाई कटाई प्रशिक्षण में सिलाई का हुनर प्राप्त करने वाले प्रशिक्षणार्थियों व ग्रामीण महिलाओं के आर्थिक उन्नयन एवं स्वावलंबन हेतु सिलाई व्यवसाय उनकी स्थाई आजीविका का मुख्य आधार बनेगा| ग्रामीण महिलाएं हुनर एवं कौशल में निपुण होकर परिवार के आयवर्धन में भागीदार बन सकती है| उक्त बात सोसायटी टु अपलिफ्ट रूरल इकोनामी बाड़मेर द्वारा केयर्न फाउंडेशन के सौजन्य से संचालित डेयरी विकास एवं पशुपालन परियोजना के तहत ईश्वर लाल पुरोहित का घर गोलासन ग्राम पंचायत गोलासन में 30 दिवसीय निशुल्क सिलाई कटाई प्रशिक्षण केंद्र के अवलोकन कार्यक्रम में बोलते हुए कार्यक्रम प्रबंधक हनुमान राम चौधरी ने कही| विजिट कार्यक्रम में कार्यक्रम प्रबंधक हनुमान राम चौधरी ने प्रशिक्षणार्थियों का स्वागत करते हुए एवं प्रशिक्षण के उद्देश्य की स्पष्टता करते हुए कहा कि आज के दौर में सिलाई कटाई कार्य एक आधारभूत व्यवसाय बन चुका है| अतः प्रशिक्षण प्राप्त कर रही सभी महिलाएं सिलाई कार्य गुणवत्ता प्रमाणिकता एवं मेहनत से कर अपने जीवन का निर्वाहन आसानी से कर सकती है| उन्होंने कहा कि आपका हुनरमंद बनने का स्वपन सिलाई कटाई प्रशिक्षण से पूरा हो सकेगा| चौधरी ने सभी को जागरूक सशक्त एवं संगठित होकर परिवार को आर्थिक एवं सामाजिक दृष्टि से सुदृढ़ बनाने का आह्वान किया| चौधरी ने कहा कि सिलाई कटाई व्यवसाय के साथ ही महिलाएं दुग्ध उत्पाद निर्माण पैकिंग सर्फ साबुन अचार एवं शरबत गाय के बिलोना का शुद्ध देसी घी निर्माण एवं पैकिंग काचर कुंभट गवारफली केर सांगरी का संकलन पैकिंग मूल्य संवर्धन एवं मार्केटिंग कर अतिरिक्त आय सर्जन के आयाम स्थापित करें| चौधरी ने मुख्यमंत्री सघन वृक्षारोपण कार्यक्रम एवं हर घर एक पौधा लगाने उनकी पेड़ बनने तक सार संभाल एवं सुरक्षा करने की जिम्मेदारी देते हुए फलदार बादाम सहजन पपीता एवं फूलदार छायादार पौधे उपस्थित सभी को वितरण कर बड़े स्तर पर वृक्षारोपण कार्यक्रम को बढ़ावा देने हेतु प्रोत्साहित किया| उक्त अवसर पर बोलते हुए सहायक परियोजना समन्वयक माला राम गोदारा ने परियोजना के तहत महिला सशक्तिकरण एवं स्वरोजगार को बढ़ावा देने हेतु संस्था एवं परियोजना द्वारा किए जा रहे प्रयासों के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि महिलाएं हुनर के साथ जुड़कर अपना कार्य स्वयं करने के साथ आत्मनिर्भर होने पर ही परिवार का विकास अवश्य संभव है |गोदारा ने कहा कि सिलाई जोखिम भरा काम है |सुरक्षा प्रबंधन के साथ वृद्धि स्तर पर प्रमाणिकता व्यवहार कुशलता से कार्य कर आमदनी में इजाफा करने के साथ अतिरिक्त आय सर्जन कर परिवार को स्वावलंबन की ओर अग्रसर करें| प्रशिक्षण मैं कूल 25 महिलाएं प्रशिक्षण प्राप्त कर रही है| कार्यक्रम में सूर्य कुमारी पूजा पुरोहित गीता देवी सूरज एवं समाजसेवी ईडाराम पुरोहित ने प्रशिक्षण से संबंधित अपने अनुभवों को साझा किया| विजिट कार्यक्रम में कार्यक्रम प्रबंधक हनुमान राम चौधरी सहायक परियोजना समन्वयक मालाराम गोदारा समाजसेवी ईडाराम पुरोहित उपस्थित रहे| प्रशिक्षण कार्यक्रम का समापन 2 अगस्त 2024 को होगा|

संपादक: भवानी सिंह राठौड़ (फूलन)

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!