एलएंडटी की हठधर्मिता… हर घर जल छोड़िए साहब! यहां टंकी की टेस्टिंग तक नही हुई, कब नसीब होगा पानी

एलएंडटी की हठधर्मिता… हर घर जल छोड़िए साहब! यहां टंकी की टेस्टिंग तक नही हुई, कब नसीब होगा पानी
Spread the love

जल जीवन मिशन योजना की खुल रही पोल, करोड़ों रुपये खर्च करने के बाद भी ग्रामीणों को नही मिल रहा हिस्से का पानी

 

समदड़ी:प्रदेश में आज भी अनेक ऐसे गांव व कस्बे है। जहाँ पर लोगों को पीने के लिए शुद्ध पेयजल उपलब्ध नहीं हो पा रहा है। कई ग्रामीण इलाको में रहने वाले लोग आज भी कुओं व तालाबों से पानी सींचने पर मजबूर हैं क्योंकि दूरस्थ क्षेत्रों में सरकार की योजनाएं अधिकारियों की लापरवाही के कारण नहीं पहुंच पाती हैं। यदि किसी तरह योजनाएं पहुँच भी जाए तो योजना के लिए मिलने वाली सरकारी राशि का बंदरबाट नीचे से ऊपर तक के अधिकारी कर्मचारी हजम कर जाते है। जिसका नतीजा यह होता है कि विभिन्न योजना से संबंधित कार्य आधे अधूरे में बंद हो जाते है। ग्रामीण क्षेत्रों में निवासरत लोगों के लिए सबसे बड़ी परेशानी पानी की होती है। बरसात के मौसम में किसी तरह तो पानी मिल जाता है लेकिन गर्मी के मौसम में लोगों को लम्बी दूरी तय कर पानी की व्यवस्था अपने परिवार के लिए करनी पड़ती हैं। बावजूद इसके जलदाय विभाग के कारिंदे गंभीर नजर नही आ रहे हैं। दरअसल बालोतरा जिले में समदड़ी कस्बे के फूलण गांव में लगभग दो सालो से जल जीवन मिशन योजना के तहत घर-घर शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के उद्देश्य से कार्य किए गए लेकिन इस योजना में भी आपसी मिलीभगत कर घटिया तरीके से निर्माण कार्य कराए जाने की लगातार शिकायते मिल रही है। वहीं यहां टंकी का निर्माण करवाया लेकिन अभी तक टेस्टिंग तक नही करवाई गई हैं। बात करने पर विभागीय अधिकारियों व ठेकेदार द्वारा संतोजनक जवाब नही दिया जा रहा हैं, जिसके चलते ग्रामीणों को पानी के लिए भारी परेशानी उठानी पड़ रही हैं।

 

 

मॉनिटरिंग का अभाव

 

जल जीवन मिशन योजना के अंतर्गत चल रहे निर्माण कार्यों में विभागीय अधिकारियों की लापरवाही के कारण सही समय पर निरीक्षण नहीं किया जाता। जिसके कारण इस कार्य को कर रहे ठेकेदारों के द्वारा कार्य को सही ढंग से नहीं करने के कारण कई स्थानों पर परेशानी हो रही है। यदि तकनीकी अधिकारियों का मार्गदर्शन सही समय पर उन ठेकेदारों को मिल जाता तो शायद आज कई नलो के टोटियों में से पानी की बूंद निकलने लगती। लेकिन यहां ठेकेदार ने टंकी का निर्माण कर टेस्टिंग किए बिना ही ठेंगा दिखा दिया हैं।

 

  • ग्रामीणों ने एलएंडटी पर लगाया आरोप 

 

ग्रमीणों ने बताया कि यहां पानी की सप्लाई एलएंडटी के अधीन हैं, जिनकी हठधर्मिता के चलते लोगों को समय पर पानी नसीब नही हो पा रहा हैं, और न ही कोई संतोषजनक जवाब दिया जा रहा हैं, विभागीय अधिकारियों को शिकायत करने के बावजूद एलएंडटी के खिलाफ कोई कार्यवाही नही किए जाने से वो अपनी मनमानी चला रहे हैं जिसका खामियाजा ग्रामीणों को भुगतना पड़ रहा है।

 

 

सरपंच ने अधिशाषी अभियंता को पत्र लिखकर समस्या से निजात दिलाने की मांग की

 

फूलन में लम्बे समय से पानी की आपूर्ति नहीं के बराबर हो रही है, अधिकारियों को अवगत करवाया मगर सुनने को तैयार कोई नही हैं। जल जीवन मिशन के तहत टंकी बनी मगर अभी तक टेस्टिंग नही की गई है। जिसके अभाव में पानी की दिक्कत उठानी पड़ रही हैं, वहीं सांवरड़ा भूति के बीच बार बार पाइप फूटने की समस्या से निजात पाने के लिए लाखो खर्च किये गए है लेकिन आज तक भूति स्थित पम्प रूम में विद्युत कनेक्शन भी नहीं हो पाया है। आज सर्दियों के मौसम में पानी की कम खपत है फिर भी यह हाल है तो गर्मियों में क्या आशा कर सकते है। अतः उन्होंने फूलन ग्राम पंचायत के हिस्से में कितना और कब कब पानी मिलना चाहिए ताकि हमें पता चले। क्योंकि आपके अधीनस्थ अधिकारी कर्मचारी तो आपको आगे कर जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ देते हैं। एलएंडटी वालों से बात करने पर 10-20 दिनों में एक आध बार सप्लाई देकर खानापूर्ति कर रहे हैं जिससे महज 50 से 60 हजार लीटर पानी ही मिलता है। जिससे जीएलआर भी नही भर पाता हैं। उन्होंने कहा कि पिछले चार माह से लोग इंतजार कर रहे है कि घर घर बिछाई हुई पाइप में पानी कब आएगा। उन्होंने आमजन की समस्या का निस्तारण करने की मांग की।

संपादक: भवानी सिंह राठौड़ (फूलन)

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!