नमस्कार नेशन स्टिंग: यहां 8 बजे के बाद भी ठेकों पर ठाठ से बिकती हैं शराब

नमस्कार नेशन स्टिंग: यहां 8 बजे के बाद भी ठेकों पर ठाठ से बिकती हैं शराब
Spread the love

आबकारी विभाग व पुलिस प्रशासन की मिलीभगत से सरकारी आदेश हो रहे हवा हवाई

मनमाना दाम वसूल कर ठेकेदार कूट रहे चांदी, कार्यवाही का कोई खौफ नही

सिवाना

प्रदेश में सत्ता परिवर्तन हो गई लेकिन माफियाओ पर इसका असर बिल्कुल बेअसर नजर आ रहा है। क्योंकि एक पुरानी कहावत है कि कद्दू कटेगा तो सब में बटेगा भी। इस तरह आमजन पर सरकार के बदलने का असर देखने को मिल रहा है लेकिन माफिया पर लगाम कसने पर प्रशासन पूरी तरह से नाकाम नजर आ रहा है। नव नियुक्त बालोतरा जिले के सिवाना उपखंड क्षेत्र में बजरी माफियाओं से लगाकर शराब माफिया चांदी कूट रहे। वही छुटपुट कार्यवाही से प्रशासन अपनी पीठ थपथपा आ रहा है। नमस्कार नेशन की टीम ने जब इसकी पड़ताल की तो लूनी नदी के तटीय इलाकों में रामपुर से लगाकर बालोतरा तक कई जगहों पर अवैध बजरी का खनन बदस्तूर जारी नजर आया। वही 8:00 बजे के बाद भी शराब की कई दुकानें खुली हुई मिली। जहां बैखोफ तरीके से शराब बिक्री हो रही थी वहीं कई होटलों और ढाबों के अंदर शराब परोसने के साथ ही बड़ी संख्या में शराबियों का जमावड़ा नजर आया। ऐसे में सवाल यह खड़ा होता है कि अगर सरकारी शराब की दुकानों पर ही सरकारी नियमों की अवहेलना जमकर हो रही है तो इसमें कितने अधिकारियों की साठगांठ होगी? जिसका सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता हैं। आबकारी नियमो की अवेलना करते हुए निर्धारित राशि से अधिक राशि खुलेआम वसूली जा रही हैं। और प्रशासन इन पर लगाम कसने में नाकाम साबित हो रहा है। ऐसे में क्षेत्र में बढ़ती चोरियों की घटनाओं के खुलासे की उम्मीद करना तो भूल ही जाएं। क्योंकि बिल्ली से दूध की रखवाली करवाने का अर्थ आप समझ गए होंगे। इसलिए यह सब जिम्मेदारों की सरपरस्ती में ही अवैध कारोबार चल रहा हैं। अब सरकार इस खेल पर कब अंकुश लगाती हैं यह भविष्य के गर्भ में हैं।

 

दुकानों पर नहीं लगी रेट लिस्ट, वसूल रहे ओवर-रेट

जानकारी के अनुसार आबकारी नियमानुसार सरकारी दुकानों पर रेट लिस्ट लगी होनी चाहिए, लेकिन क्षेत्र में किसी भी शराब दुकान पर रेट लिस्ट नहीं लगी होने के साथ ठेकेदार ओवररेट वसूल रहे हैं, जिससे लोग परेशान है। विभाग इसको लेकर कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है। वहीं क्षेत्र में एक लाइसेंस पर अवैध ब्रांचें खुली हुई हैं जहां ओवररेट से ज्यादा व रात 8 बजे के बाद तो भाव आसमान छूते हैं।

 

बताई जा रही बड़ी मिलीभगत…

क्षेत्र में निर्धारित समय के बाद भी ठेकेदार बेखौफ होकर शराब बेच रहे हैं। इसके पीछे मिलीभगत की कहानी यह बताई जा रही है। सूत्र बताते हैं कि कि शराब ठेकेदार सम्बंधित थानों में मोटी रकम पहुंचाते हैं। आबकारी विभाज में भी सेटिंग का खेल चल रहा है। मंथली बंदी मिलने के बाद ठेकेदार को कोई पूछने वाला नहीं। लिहाजा रात 8 बजे बाद भी देर रात तक शराब बिकती है, लेकिन कोई पुलिसकर्मी कार्रवाई करने नहीं जाता। कुलमिलाकर जिम्मेदारों की सह पर शराब माफिया बेलगाम हो चुके हैं।

 

सुबह 10 से रात्रि 8 बजे तक समय है निर्धारित 

उल्लेखनीय हैं कि राज्य सरकार की और से प्रदेश की मदिरा बिक्री दुकानों के लिए सुबह 10 से रात्रि 8 बजे तक समय निर्धारित किया हुआ है। निर्धारित समय बाद शराब की बिक्री करने वाले दुकानदारों के खिलाफ कार्यवाहीं का प्रावधान है। आबकारी विभाग तथा पुलिस विभाग के अधिकारी इन दुकानदारों के खिलाफ कार्रवाई के लिए निर्देशित हैं लेकिन जिम्मेदार अधिकारियों द्वारा आंखें मूंद लेने के कारण इन दुकानदारों के हौंसले बुलंद हैं।

संपादक: भवानी सिंह राठौड़ (फूलन)

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!