स्वछंद वन्य जीवों की सुरक्षा नही, रेस्क्यू सेंटर का अभाव।

स्वछंद वन्य जीवों की सुरक्षा नही, रेस्क्यू सेंटर का अभाव।
Spread the love

वन्य जीव प्रेमीयों ने अमावस्या को रेस्क्यू सेंटर खोलने की चलाई मुहिम

कूड़ी-पटाऊ गांव में आरक्षित वन क्षेत्र में हजारों वन्य जीव।

 सडक़ दुर्घटनाओं व श्वानों के हमले से वन्यजीवों की जान पर हरदम बना रहता है खतरा

 अब आगे आएं भामाशाह जल्द होंगा रेस्क्यू सेंटर का काम चालू।

बालोतरा।

क्षेत्र के करीब तीन हजार बीघा क्षेत्र में फैले कूड़ी-पटाऊ गांव के वन क्षेत्र में हर दिन हादसों में वन्यजीव घायल होते हैं। लेकिन आसपास रेस्क्यू सेंटर नहीं होने से इलाज के अभाव में कई वन्य जीव दम तोड़ देते हैं। राज्य पशु चिंकारा और राज्य पक्षी मोर की धरा में फैले आरक्षित वन क्षेत्र में सुरक्षा व्यवस्था तो दूर समय पर इलाज का भी प्रबंध सरकार ने नहीं किया है। जिससे स्वछंद विचरण करने वाले वन्यजीव सुरक्षित नही है। आखिर वन्यजीवों की सुरक्षा की जिम्मेदारी स्वयं ग्रामीणों ने उठाते हुए वन्य जीव प्रेमीयों ने अमावस्या को रेस्क्यू सेंटर खोलने की मुहिम चलाई। उक्त प्रयासों से कई भामाशाह आगे आए है। जिससे जल्द ही रेस्क्यू सेंटर का कार्य शुरू होगा।

 

वाट्सअप ग्रुप बनाकर मूक प्राणियों को बचाने के प्रयास।

कूड़ी निवासी वन्य जीव संरक्षण प्रेमी राकेश चांपाणी की ओर से अपने वाट्सएप मुहिम में भामाशाहों के सहयोग से करीबन पन्द्रह सौ मूक प्राणियों की जान बचाकर रेस्क्यू कर चुके हैं। ऐसे में कई प्राणियों को बचाने के लिए दिन रात मेहनत भी की गई हैं। हाली अमावस्या को वाट्सएप ग्रुप के जरिए मुहिम चलाई। जिसमें काफी भामाशाहों ने सहयोग किया हैं। और अधिक से अधिक भामाशाहों से सहयोग करने की अपील की हैं। 

इन भामाशाहो ने किया सहयोग

वन्यजीव बचाने की मुहिम में भामाशाह मोहनलाल भंवाल उमरलाई, सुनीता चौधरी, आदूराम चौधरी, वंरीगाराम सियाग, ओमप्रकाश बोला उमरलाई, गोपाल खावा भगतसनी जोधपुर, श्रवण सिंह कोटेचा, लक्ष्मण चौधरी, धर्मेंद्र पटवारी, रघुनाथसिंह धीरपुरा, श्यामलाल बिश्नोई, रोशन खान राजड़ तुलछाराम जाखड़ विक्रम सिंह राठौड़ भालीखाल, पूनमचंद गुड़ामालानी,सोहन बेनीवाल, खेराजराम मांजू, सुनिल अध्यापक, श्याम विश्नोई,सुभाष नांदिया प्रभावती,आदि भामाशाहों ने सहयोग किया।और राकेश चांपाणी ने अधिक से अधिक इस मुहीम में सहयोग कि अपील की हैं।

 

इस मुहीम में इस प्रकार करें मदद।

फोन पे नंबर 7357993429

बैंकिंग नाम – राकेश

संपादक: भवानी सिंह राठौड़ (फूलन)

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!