अब नहीं होगी पीपली बेरी में नशे की सामुहिक मनुहार

अब नहीं होगी पीपली बेरी में नशे की सामुहिक मनुहार
Spread the love

जनसमुदाय ने हाथ में तांबे का कलश लेकर लिया मानव सुधार का संकल्प

धोरीमन्ना

नशामुक्त,जूठन मुक्त भोजनशाला व पॉलिथीन मुक्त सामाजिक समारोह की मुहिम के साथ निस्वार्थ भाव से सेवा दे रही पर्यावरण व वन्यजीव संरक्षण संस्थान द्वारा प्रायोजित कोशिश पर्यावरण सेवक टीम सांचौरी-मालाणी शनिवार को सेङवा उपखण्ड के पीपली बेरी गांव में जाणी परिवार के घर सेवा देने पहूंची।टीम के सह-प्रभारी व स्टेट अवार्डी शिक्षक जगदीश प्रसाद विश्नोई ने बताया कि टीम ने सामाजिक समारोह में पर्यावरण संरक्षण का संदेश देने हेतु भव्य पर्यावरण प्रर्दशनी लगाकर मेहमानों को जागरूक किया व समारोह में तांबे के लोटों से जलपान कराकर प्राचीन भारतीय संस्कृति को अपनाने का संदेश देते हुए नशा नहीं करने का संकल्प दिलवाया व भोजनशाला में भोजन का जूठन न छोड़े इसके लिए तख्तियां व बैनर लगाकर जनजागरुकता अभियान चलाते हुए भोजन का जूठन न के बराबर करने दिया।दुल्हा-दुल्हन के हाथों पेङ लगाकर सेवा व सुरक्षा की शपथ दिलाई व कपङे की थैली भेंट कर पॉलिथीन का इस्तेमाल नहीं करने का संदेश दिया।समारोह में पर्यावरण सेवक किशनाराम बांगङवा प्रभारी, गंगाराम खिचङ गडरा,बुधाराम कावां,गंगाराम सियाक, रामप्रताप खिचङ सेङवा,सुभाष,विष्णु सेङवा जितेन्द्र खिचङ गडरा,जगदीश प्रसाद विश्नोई सह-प्रभारी, मोहनलाल कावां,श्रीराम ढाका, वकील केसरीमल खिचङ,रोहित,कृष्ण,विष्णु,प्रविण,सुनिल,बगतेस,सुभाष,गोपाल,कुमारसत्यम, अरविंद,सुरेंद्र सहित कई सेवकों ने निस्वार्थ भाव से सेवा पूरे दिन निस्वार्थ भाव से देकर सबको प्रेरित किया।

संपादक: भवानी सिंह राठौड़ (फूलन)

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!