विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन:- कार्यस्थल पर महिलाओं का सम्मान और सुरक्षा सर्वोपरी – सिद्धार्थ दीप

विधिक साक्षरता शिविर का आयोजन:- कार्यस्थल पर महिलाओं का सम्मान और सुरक्षा सर्वोपरी – सिद्धार्थ दीप
Spread the love

बालोतरा:

माननीय राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जयपुर के एक्शन प्लान के निर्देशानुसार नगर परिषद बालोतरा मे कार्यस्थल पर लैंगिक उत्पीड़न रोकथाम जागरूकता हेतु जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव सिद्धार्थ दीप ने किया शिविर का आयोजन किया गया। 

जिसका उद्देश्य महिलाओं को उनके वैधानिक अधिकारों और उनके लिए उपलब्ध कानूनी संसाधनों के बारे में जागरुकता पैदा करना है।

नगर परिषद की महिला सफाई कर्मचारियों और मनरेगा की महिला कर्मियों को संबोधित करते हुए सचिव सिद्धार्थ दीप ने कार्यस्थल पर यौन उत्पीड़न, बाल विवाह, कन्या भु्रण हत्या जैसी सामाजिक कुरीतियों को रोकने के लिए जागरूकता बढ़ाने का आह्वान किया। उन्होंने महिला सशक्तीकरण और महिलाओं के कानूनी अधिकारों व विधिक सहायता के बारे में विस्तार से चर्चा की।

सचिव ने अपने संबोधन में कहा कि ‘‘कार्यस्थल पर महिलाओं का सम्मान और सुरक्षा सर्वोपरी है। किसी भी महिला को कार्यस्थल पर किसी भी प्रकार के शोषण का सामना नहीं करना चाहिए। उन्होंने महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक रहने और किसी भी प्रकार के उत्पीड़न का सामना करने पर उचित कार्रवाई करवाने के लिए प्रोत्साहित किया। शिकायत हेतु आंतरिक शिकायत समिति के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बाल विवाह और कन्या भ्रूण हत्या जैसी कुरीतियों को समाज से मिटाने का भी आह्वान किया। उन्होंने कहा कि ‘‘बाल विवाह न केवल बालिकाओं के भविष्य को बर्बाद करता है बल्कि पूरे समाज को भी पीछे धकेलता है। उन्होंने उपस्थित लोगों से बाल विवाह और कन्या भ्रूण हत्या को रोकने के लिए जागरूकता फैलाने का आग्रह किया।

सिद्धार्थ दीप ने महिला सशक्तीकरण पर भी जोर दिया। उन्होंने कहा कि ‘‘महिलाओं को शैक्षणिक, आर्थिक रूप से स्वावलंबी बनाने और निर्णय लेने की प्रक्रिया में शामिल करने से समाज का विकास होता है। उन्होंने महिलाओं को विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ उठाने के लिए प्रोत्साहित किया जो उन्हें सशक्त बनाने के लिए बनाई गई हैं।

अंत में सिद्धार्थ दीप ने महिलाओं के कानूनी अधिकारों के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने महिलाओं को उनके कानूनी अधिकारों, कानूनी सहायता प्रणाली और शिकायत निवारण तंत्र के बारे में जानकारी दी। उन्होंने महिलाओं से किसी भी प्रकार के अन्याय का सामना करने पर कानून का सहारा लेने में संकोच न करने का आग्रह किया।

संपादक: भवानी सिंह राठौड़ (फूलन)

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!