रोडवेज के अभाव में निजी बसों में सफर को मजबूर यात्री

रोडवेज के अभाव में निजी बसों में सफर को मजबूर यात्री
Spread the love

दो गुना ज्यादा किराया जोखिम भरी यात्रा पर मजबूर ग्रामीण

 फलसूंड

जिला जैसलमेर फलसूंड मुख्यालय सहित ग्रामीण इलाकों में रोडवेज की सुविधा नहीं होने के चलते आमजन को निजी बसों में महंगा किराया देकर सफर करने को मजबूर होना पड़ रहा है। राज्य में नई सरकार बनने के बाद ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को रोडवेज सुविधा मिलने की उम्मीद है। ग्रामीण नई सरकार से गांवों में रोडवेज बस चलाने की मांग को लेकर जनप्रतिनिधियों एवं प्रशासनिक अधिकारियों को अवगत करवा रहे हैं। क्षेत्र के दर्जनों गांव रोडवेज बस सुविधा से वंचित है। इससे आवागमन में परेशानी का सामना करना पड रहा है। बस सुविधा से अभी तक वंचित गांवों में सुविधा सुलभ करवाने को लेकर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा, जिसका खामियाजा ग्रामीणों को भुगतना पड़ रहा है। पूर्व सरकार कांग्रेस में कई वार जनप्रतिनिधियों ने रोडवेज की बस शुरू को लेकर मांग की गई थी।, लेकिन कोई ध्यान नहीं गया।

 

 निजी गाड़ीयों में जान जोखिम में

रोडवेज बस सुविधा का अभाव होने पर ग्रामीणों को मजबूरन आवागमन के लिए निजी वाहनों का सहारा लेना पड़ रहा है। इन गांवों में ग्रामीण जीप, टैक्सी, निजी बस समेत अन्य वाहनों से आवागमन करते हैं। इधर, रोडवेज बस सुविधा नहीं होने का फायदा उठाते हुए निजी वाहन संचालक मनमाना किराया वसूल रहे हैं। पोकरण, जैसलमेर, भणियाणा, बालोतरा, जोधपुर, चाबा, शेरगढ़, सवालियां, बालेसर, नेतासर, खोखसर, केशुमबला बायतु सहित कई गांवों में रोडवेज बस की सुविधा नहीं मिल रही है।

 

नहीं मिल रहा रोडवेज की योजना का लाभ

रोड़वेज में विशेष अवसर पर महिलाओं को निःशुल्क सफर, महिलाओं को किराए में 50 प्रतिशत की छूट, वरिष्ठ नागरिक व विकलांगों को किराए में रियायत समेत राज्य सरकार रोडवेज बस सुविधा नहीं होने से

ग्रामीण निजी वाहनों में अधिक किराया राशि चुकाकर यात्रा करने को विवश है। निजी वाहन चालक अधिक मुनाफा कमाने के लालच में ग्रामीणों की जान जोखिम में डाल रहे हैं। वहीं रोडवेज से 2 गुना अधिक किराया वसूल रहे हैं जिस पर भी जिम्मेदार अधिकारी कोई लगाम नहीं लग पा रहे हैं। की कई कल्याणकारी योजनाएं संचालित है, लेकिन गांवों में रोड़वेज बस सुविधा का अभाव होने से योजनाओं का लाभ ग्रामीणों को नहीं मिल पा रहा है। जो गांव हाइवे से लगते हुए हैं वहा पर भी रोडवेज की सुविधा नहीं हैं। ऐसे में लोगों को गांवों से कस्बों या जिला मुख्यालय में पहुंचने के लिए निजी वाहनों में महंगा किराया देकर आना पड़ रहा है।

 

इनका कहना है

ग्रामीण क्षेत्र में सरकार मेहमानों के रोडवेज की बसों शुरू करें जिसे आमजन को महंगे किराए से राहत मिल सके। निजी बस संचालक मनमर्जी का किराया वसूलते हैं। 

ग्रामीण-पुखराज सोनी

2 डबल इंजन कि नई सरकार ग्रामीण क्षेत्र में सरकारी बसों की सुविधा शुरू करे तो आमजन को हर सरकारी बस का लाभ मिलेगा। महिलाओं को रोडवेज किराए की छूट भी मिलेगी लेकिन कई बार मांग की बावजूद भी सेवाएं शुरू नहीं हो रही है। 

 सुरेंद्रसिंह जोधा फलसूंड 

जैसलमेर ,जोधपुर, बाड़मेर में विधानसभा क्षेत्र में अभी तक रोडवेज की सुविधा नहीं है। नई भाजपा सरकार बनने के बाद उम्मीद जगी है। कि रोडवेज की सुविधा मिलेगी।

अरविंद कुमार खटीक

 

ग्रामीण क्षेत्र में रोडवेज की बस सुविधा होने से आमजन को महंगे किराए से राहत मिलेगी। निजी बसों में मनमानी का किराया देकर खड़े रहकर यात्रा करने को मजबूर होना पड़ता है।

मदन प्रजापत फलसूंड

संपादक: भवानी सिंह राठौड़ (फूलन)

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!