पुलिस ने आंसू गैस छोड़कर किया विद्यार्थियों पर लाठीचार्ज

पुलिस ने आंसू गैस छोड़कर किया विद्यार्थियों पर लाठीचार्ज
Spread the love

कॉलेज के कार्यक्रम में एनएसयूआई के पदाधिकारियों को नहीं बुलाने पर हुआ हंगामा

स्टूडेंट्स का आरोप: पुलिस की लाठी से एक छात्र का सिर फटा

बाड़मेर

बाड़मेर के पीजी गवर्नमेंट कॉलेज के वार्षिकोत्सव में स्थानीय एमएलए और नेशनल स्टूडेंट्स यूनियन ऑफ इंडिया के पदाधिकारियों को इन्वाइट नहीं करने पर दोपहर 1 बजे स्टूडेंट्स ने हंगामा कर दिया। और स्टूडेंट्स धरने पर बैठ गए। शाम 4 बजे जब वार्षिकोत्सव में राज्यमंत्री और गुडामालानी से विधायक केके विश्नोई पहुंचे तो पुलिस ने गेट पर प्रदर्शन कर रहे स्टूडेंट्स को हटाने के लिए लाठीचार्ज किया। इसके बाद स्टूडेंट्स पुलिस से भिड़ गए। पुलिस ने छात्रों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। स्टूडेंट्स का आरोप है कि पुलिस की लाठी से एक छात्र का सिर भी फट गया। यूथ कांग्रेस के जिला अध्यक्ष राजेंद्र कड़वासरा ने कहा की स्टूडेंट्स की मांगें न सुनकर उन पर लाठीचार्ज किया गया। पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे। चार छात्र घायल हुए हैं। कोतवाल गंगाराम खावा ने कहा की स्टूडेंट्स ने पथराव कर दिया था। हमारे दो-तीन जवानों को पत्थर लगे। दो-तीन कारों के कांच भी टूटे हैं। शाम 6:30 बजे तक कॉलेज के अंदर वार्षिकोत्सव चल रहा था। एनएसयूआई के पदाधिकारी और छात्र कॉलेज के अंदर धरना देकर बैठे रहे। पुलिस और कॉलेज प्रशासन के खिलाफ मुर्दाबाद के नारे लगाते रहे। पुलिस ने कॉलेज कोतवाली, सदर, ग्रामीण, रीको पुलिस थाना अधिकारियों को मय जाब्ता बुला लिया और तैनात कर दिया। बाड़मेर एएसपी सतेंद्र पाल सिंह, महिला सेल एएसपी आवड़दान और ट्रैफिक डीएसपी अरविंद जांगिड़ भी मौके पर मौजूद रहे। समारोह में आए राजस्थान सरकार के राज्य मंत्री केके विश्नोई को सुरक्षा कारणों से कॉलेज के पीछे के रास्ते से बाहर निकाला गया।

 

कॉलेज के वार्षिकोत्सव में एनएसयूआई के पदाधिकारियों को नही मिला बुलावा

छात्रों काे इस बात पर ऐतराज था कि वार्षिकोत्सव के लिए न तो एनएसयूआई के पदाधिकारियों और न ही निर्दलीय विधायक डॉ. प्रियंका चौधरी को बुलाया गया। इसलिए छात्र आज वार्षिकोत्सव को कैंसिल करने और नई डेट पर कराने की मांग कर रहे थे। छात्रों का कहना था कि निर्दलीय विधायक और एनएसयूआई को भी वार्षिकोत्सव में बुलाया जाए, क्योंकि कॉलेज किसी एक छात्र संगठन का नहीं है। इसी मांग को लेकर दोपहर में एनएसयूआई से जुड़े छात्र कॉलेज के गेट के सामने जुट गए थे। वे गेट पर धरना देकर बैठ गए। पुलिस ने छात्रों को समझाया, लेकिन वे नहीं माने। वे पुलिस और कॉलेज प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते रहे।

 

कॉलेज प्रशासन पर राजनीति करने का आरोप

धरने पर बैठे स्टूडेंट भानाराम चौधरी ने दोपहर में कहा था- स्थानीय विधायक और एनएसयूआई के प्रतिनिधियों को न बुलाकर कॉलेज प्रशासन राजनीति कर रहा है। आज का प्रोग्राम कैंसिल कर सभी को बुलाया जाए। मंत्री केके विश्नोई और बीजेपी के विधायकों को लेकर हमारा कोई विरोध नहीं है। आयोजन में राज्यमंत्री केके विश्नोई को बुलाया। चौहटन विधायक आदूराम मेघवाल और भाजपा जिलाध्यक्ष दिलीप पालीवाल को बुलाया, लेकिन स्थानीय विधायक प्रियंका चौधरी को नहीं बुलाया। दूसरे छात्र संगठनों को भी नहीं बुलाया।

 

पथराव में पुलिसकर्मी को आई चोट

मौके पर तैनात एक पुलिसकर्मी ने बताया की छात्रों ने पुलिस पर पथराव किया। एक पत्थर मेरी कोहनी पर लगा है। आधा किलो का पत्थर था। कोहनी पर सूजन आ गई है। अब एक्स-रे कराऊंगा। छात्र दोपहर 1 बजे से उत्पात कर रहे हैं। एक कार के कांच भी तोड़ दिए। विधायक की एंट्री कराने के लिए हल्का बल प्रयोग किया था। इसके बाद छात्रों ने पत्थरबाजी शुरू कर दी।

संपादक: भवानी सिंह राठौड़ (फूलन)

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!