प्रवेश की आयु 6 वर्ष करने के विरोध में राजस्थान शिक्षक संघ ने कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन।

प्रवेश की आयु 6 वर्ष करने के विरोध में राजस्थान शिक्षक संघ ने कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन।
Spread the love

बालोतरा

राजस्थान शिक्षक शेखावत के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य भोमाराम गोयल ने बताया जिला कमेटी ने मुख्यमंत्री के नाम जिला कलेक्टर बालोतरा को जिला मंत्री दिलीप बिरङा व प्रांतीय प्रतिनिधि भोमाराम गोयल के नेतृत्व में ज्ञापन देते हुए मांग की कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 की अनुपालना में पहली कक्षा में प्रवेश की आयु पाँच वर्ष के स्थान पर 6 वर्ष की गई है। इसके कारण प्रदेश की सरकारी स्कूलों में पहली कक्षा संचालित ही नहीं होगी। पाँच साल के समस्त बच्चे प्राइवेट स्कूल में दाख़िला ले लेंगे परिणाम स्वरूप प्रदेश में 8-10 लाख का नामांकन कम होगा। जिलामंत्री दिलीप बिरङा व धर्माराम बारूपाल ने बताया कि एक बार जिस बच्चे ने निजी स्कूल में प्रवेश ले लिया तो अगली साल वह सरकारी स्कूल में नहीं आएगा , तो अगले सत्र में पहली और दूसरी कक्षाएँ सरकारी स्कूलों में नहीं चलेंगी। जिला उपाध्यक्ष अनिल परमार व संयुक्त मंत्री युसूफ आजाद ने बताया संगठन ने माँग कि अविलम्ब प्रवेश की आयु पाँच वर्ष की जावे , जिससे सार्वजनिक शिक्षा की हिफ़ाज़त हो सके। तथा विधालयों में नामांकन वृद्धि होगी। सभा को दिलीप बिरङा विनोद पूनिया मदन ओगसन भोमाराम गोयल अनिल परमार नरपतराज सैजू ने भी सम्बोधित किया। ज्ञापन देने सभाध्यक्ष मदन जोगसन, जिलाध्यक्ष धर्माराम बारूपाल जिला मंत्री दिलीप बीरङा बालोतरा ब्लॉक अध्यक्ष नरपराज सेजू, जिला कार्यकारिणी सदस्य धर्माराम बारूपाल भगवाना राम चौहान सुमित्राजीनगर रवि सैनी गोतम चौहान, मनीष नाहर समदड़ी पूर्व ब्लाक अध्यक्ष विशनाराम चौहान बाबूलाल सोलंकी प्रवीण चौहान मेघराज सैनी जिला उपाध्यक्ष अनिल परमार प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य भोमाराम गोयल जिला कोषाध्यक्ष जयपाल सिंह करुण विकास नेहरा पटौदी अमृतलाल जीनगर जिला संयुक्त मंत्री युसूफ आजाद जगदीश कङवासरा सुरेश घारू आदि मौजूद रहे।

संपादक: भवानी सिंह राठौड़ (फूलन)

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!