मकानों से अवैध कब्जे हटाने में शिवरीनारायण तहसीलदार रहे नाकाम।

मकानों से अवैध कब्जे हटाने में शिवरीनारायण तहसीलदार रहे नाकाम।
Spread the love

राजस्व प्रशासन भूमाफियों के आगे हुआ नतमस्तक

छत्तीसगढ़

शिवरीनारायण नगर पंचायत के वार्ड न. 12 में बैराज निर्माण के लिए बनाए गए मजदूरों के लिए अस्थाई मकानो पर कथित भूमाफियों द्वारा कुछ महिलाओं को मकानों में बिठाकर अवैध कब्जा कर लिया था। जिसकी शिकायत पर पूर्व में शिवरीनारायण तहसीलदार के जायसवाल हल्का पटवारी मोहन बनर्जी और नायब तहसीलदार संजय बरेठ ने मौके पर पहुंच कर मौका जांच निरीक्षण किया था जिसमे वहां मकानो पर कब्जा पाया गया था। जिसे दो दिवस के भीतर तोड़ने का आदेश दिया गया था। वही दो दिवस के भीतर मकान को खाली नही किया जाएगा तो उक्त मकान रहने वाले लोगो के खिलाफ सख्त कानूनी कार्यवाही की जायेगी। लेकिन आपको बता दे बैराज मोड़ के पास अब तक किसी भी प्रकार की कार्यवाही देखने को नहीं मिल रही है। भूमाफियों के आगे राजस्व विभाग नतमस्तक हो गया है। आपको बता दे कि काफी लंबे समय से मकान खाली पड़ा था। जिसे नगर के भू माफियाओं द्वारा कब्जा करने की नियत से बाहरी गांव के लोगों को बुलवाकर वहा रुकवाया गया था। जिस पर शिवरीनारायण प्रेस क्लब की टीम ने कार्यवाही करने के लिए आवेदन तहसीलदार को सौंपा था। जिस पर तत्काल तहसील की टीम ने मौके पर पहुंच कर मकान पर कब्जा करने वालो को तत्काल हटने का आदेश दिया था। और उच्च अधिकारियों से बात कर उस भवन को दो दिवस के भीतर तोड़ने का आदेश भी दिया था। वही भू माफियाओं के द्वारा अब किसी भी प्रकार से बेजा कब्जा की शिकायत मिलती है तो उसमे तत्काल कार्यवाही करने की बात तहसीलदार केके जायसवाल ने की थी। लेकिन पता नहीं क्यों अधिकारियों से बड़े भू माफिया हो जा रहे है। तभी तो भू माफियाओं को संरक्षण मिल रहा जिसके वजह से अब तक मकान खाली भी नहीं किया गया हैं।

संपादक: भवानी सिंह राठौड़ (फूलन)

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!