शोभायात्रा के साथ श्रीयादे माता का जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया

शोभायात्रा के साथ श्रीयादे माता का जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया
Spread the love

समदड़ी

कस्बे के अजीत रोड स्थित प्रजापत समाज की आराध्य देवी श्री श्रीयादे माता मंदिर पर श्रीयादे माता जयंती के उपलक्ष्य में दो दिवसीय कार्यक्रम प्रजापत समाज 24 खेड़ा सिवांची पट्टी के तत्वावधान ने गोविंदराम की बगेची गादीपति नरसिंगदास महाराज के सानिध्य में हर्षोल्लास व धूमधाम के साथ मनाया गया। मंदिर ट्रस्ट कमेटी अध्यक्ष बगदाराम प्रजापत ने बताया कि रविवार को भक्तशिरोमणी श्रीयादे माता जयंती के अवसर पर अल सवेरे पुजारी द्वारा निज मंदिर में स्थापित देव प्रतिमाओं को स्नानादि करवाकर नव वस्त्रों से सुज्जित किया गया। मंदिर परिसर में बने हवन कुंड में बोलीदाता परिवार जनों द्वारा आहुतियां दी गई। मंदिर शिखर पर अमर ध्वजा के लाभार्थी परिवार द्वारा ध्वजा चढ़ाई गई। श्रीयादे माताजी की महाआरती कर समाज मे खुशहाली की कामना की। उसके बाद विशाल शोभायात्रा निकाली गई। शोभायात्रा में सबसे आगे डीजे पर थिरकते हुए युवा व महिलाएं चल रही थी। शोभायात्रा में भक्त शिरोमणी श्रीयादे माताजी झांकी, राम दरबार की झांकी,शिव दरबार की झांकी शोभायात्रा की शोभा बढ़ा रही थी। शोभायात्रा श्रीयादे मंदिर से रवाना होकर पिपली चौक, गौर का चौक, मेन बाजार,दोवल माता मंदिर होते हुए बगेची पहुची। जहाँ दर्शन कर पुनः मंदिर आकर विसर्जित हुई।उसके बाद मंदिर महाप्रसादी का आयोजन किया गया। इस दौरान पूर्व सांसद कर्नल सोनाराम चौधरी, पूर्व विधायक मदन प्रजापत, जोगेंद्र भाटी, गोविंद माली, सामाजिक सुरक्षा अधिकारी घेवरचंद प्रजापत, डॉ प्रेम प्रजापत, ओमप्रकाश प्रजापत, पार्षद नरसिंग प्रजापत, पीराराम प्रजापत सहित हजारों की सख्या में समाज बन्धु उपस्थित थे।

 

भजन संध्या का हुआ आयोजन

प्रजापत समाज की आराध्य देवी श्री श्रीयादे माता मंदिर पर श्रीयादे माता जयंती के उपलक्ष्य में शनिवार रात्रि में मंदिर परिसर में विशाल भजन संध्या एक शाम श्रीयादे माता के नाम का आयोजन किया गया।भजन संध्या के दौरान विभिन्न चढ़ावे की बोलियों बोली गई।

आयोजित भजन संध्या का आगाज भजन गायक प्रतापचन्द प्रजापत ने गणपति वंदना से में थाने सिवरू गणपत देवा…. से किया। उन्होंने ने गुरु महिमा सहित श्रीयादे माताजी के भजनों की प्रस्तुतियां देकर श्रद्धालुओं को भक्तिरस से सरोबार किया। भजन संध्या के दौरान भजन गायक प्रकाश प्रजापत, पुखभारती, कैलाश पुरी ने भी भजनो की प्रस्तुतियां देकर भजन संध्या का वातावरण भक्तिमय बना दिया। भजन संध्या के दौरान विभिन्न वार्षिक चढ़ावे की बोलियों बोली गई जिसमें समाज के लोगो ने बढ़ चढ़कर भाग लिया। इस दौरान सैकड़ो की संख्या में प्रबुद्धजन मौजूद रहे।

संपादक: भवानी सिंह राठौड़ (फूलन)

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!