वीडियो को निर्माण सम्बंधित सख्ती बरतनी पड़ी भारी

वीडियो को निर्माण सम्बंधित सख्ती बरतनी पड़ी भारी
Spread the love

अतिक्रमण हटाने की बजाए बीडीयो ने ग्राम विकास अधिकारी को हटा दिया

एनओसी के समय अवधि हुई पूर्ण, ठोस दस्तावेज में विक्रय विलेख व पट्टा नहीं किया पेश

रेवदर

दांतराई में राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय के पास हो रहे निर्माण कार्य को देखकर लगता है कि ग्राम पंचायत दांतराई द्वारा प्रथम दृश्य अवैध मानते हुए ग्राम पंचायत की भूमि पर हो रहे अतिक्रमण को रूकवाया था। जिसके बाद अब पुनः कार्य शुरू करने का अंदेशा जताया जा रहा है। लेकिन उस पर अब कोई सख्त कार्रवाई नहीं की जा रही है। लेकिन भजनलाल सरकार ने अतिक्रमणीयों पर सख्ती से कार्रवाई करते हुए पंचायती विकास एवं पंचायती विभाग के शासन सचिव रवि कुमार ने इस संबंध में हटाने के लिए साफ तौर पर अतिक्रमण मामले को लेकर निर्देश जारी किए थे और कार्रवाई नहीं करने पर सरपंच व वीडियो पर सख्ती को लेकर बात कही थी। लेकिन ग्राम पंचायत पंचायती राज कानून से मिली शक्तियों का इस्तेमाल नहीं कर पा रही है। इसी की बदौलत लाखों रुपए की बेश कीमती भूमि पर हो रहे निर्माण को लेकर ग्राम पंचायत अनदेखी की कर रही है। न ही उच्च अधिकारी इस पर कोई संज्ञान लेने की जहमत उठा रहे हैं। ग्राम पंचायत की ओर से निर्माण कार्य को रुकवाने के बाद भी मुख्य सड़क से पत्थर नहीं हटाने के चलते वाहन चालक लगातार परेशान है और अतिक्रमण कभी इस भूमि पर हावी हो सकते हैं। अगर समय रहते उच्च अधिकारी व विभाग नहीं जागा तो बेश कीमती भूमि अतिक्रमण की चपेट में आ सकती है।

 

एनओसी के समय अवधि हुई पूर्ण, ठोस दस्तावेज में विक्रय विलेख व पट्टा नहीं किया पेश

विद्यालय के पास पड़ी भूमि पर एक व्यक्ति द्वारा निर्माण मामले को लेकर ग्राम पंचायत ने ठोस दस्तावेज प्रस्तुत करते हुए निर्माण कार्य को रुकवाया था लेकिन ग्राम पंचायत में भूमि संबंधित ठोस दस्तावेज विक्रय विलेख या पट्टा पेश नहीं किया गया है। ऐसे में ये बेश कीमती लाखों रुपए की भूमि पर अतिक्रमण की चपेट में आ सकती है। साथ ही इस भूमि संबंधित बिना ग्राम पंचायत सरपंच के एनओसी प्रस्तुत की थी जिस पर उपर क्रमांक नम्बर 231 दिनांक 26.5.2023 अंकित थी जो नियम अनुसार 6 माह तक वेध थी लेकिन उस बिना सरपंच के एनओसी पर पूर्व ग्राम विकास अधिकारी के हस्ताक्षर थे जिसके पास में ही एक और अंकित तारीख 8.9.23. दर्ज है। जिसकी भी समय अवधि पूर्ण हो चुकी है। जबकि एक एनओसी पर दो अलग-अलग तारीख होने से बड़ा भ्रष्टाचार होने की बू आ रही है। लेकिन अब भी उच्च अधिकारियों ने इस मामले में संज्ञा नहीं लिया तो पंचायती राजकोष को बड़ा नुकसान झेलना पड़ सकता हैं।

 

भूमि संबंधित कई नजरी नक्शे भी हुए पेश

दांतराई पुर्व ग्राम पंचायत द्वारा पूर्व में राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय के पास बड़ी भूमि संबंधित एक नजरी नक्शा याददाश्त के लिए जारी किया गया। जिसमें होली चोक पर भूखंड संख्या 37 को सार्वजनिक जगह हेतु समर्पित होने का भी जिक्र किया गया है। लेकिन वर्तमान में उक्त भूखंड भी सार्वजनिक जगह हेतू कही नजर नही आ रहा है। जबकि कई दस्तावेज में होली दहन हेतु भूखंड खुली छोड़ने की जानकारी भी दर्शाई है। साथ ही बता दे की पूर्व जिला कलेक्टर गिरिराज सिंह द्वारा संपूर्ण जिले में 18 मई 2002 को आदेश जारी करते हुए नजरी नक्शा पर रोक लगाई थी। जिसमें इस तरह से जारी प्रमाण पत्रों से ग्राम पंचायत में नुकसान का जिक्र किया था और पंचायती राज अधिनियम 1994 की धारा 38 के तहत कार्रवाई की बात कही थी। उसके बाद भी ग्राम पंचायत दांतराई राय में कई नजरी नक्शे जारी हुए जिसके आधार पर बेश कीमती भूमि को अपने नाम करवा कर राजकोष को भारी नुकसान पहुंचा हैं। जिनकी अगर प्रशासन कमेटी गठित कर संपूर्ण जांच करें तो कई चौंकाने वाले मामले भी सामने आ सकते हैं।

 

 बीडीयो ने ग्राम विकास अधिकारी को हटाया

 निर्माण कार्य को लेकर जब दांतराई ग्राम पंचायत सचिव

जो 27 फरवरी 2024 को दांतराई ग्राम पंचायत में विकास अधिकारी के आदेश पर लगे थे ओर 28 फरवरी को कार्य ग्रहण किया था। लेकिन उसके बाद 5 मार्च को शिकायत मिलने पर निर्माण कार्य को रुकवाया और भूमि संबंधित ठोस दस्तावेज प्रस्तुत करने के लिए निर्माण कर रहे व्यक्ति से कहा। लेकिन जैसे ही 6 मार्च को मीडिया में अतिक्रमण रूकवाने को लेकर खबर प्रकाशित हुई तो विकास अधिकारी द्वारा अतिक्रमण पर कार्रवाई करने की बजाए ग्राम विकास अधिकारी को 7 मार्च को एपीओ होने के आदेश जारी कर दिया ओर उसी दिन नए सचिव के आदेश जारी कर दिया। जबकि कुछ परिपत्र के आधार पर जानकारी प्राप्त हुई है की विकास अधिकारी को एपीओ नही करने के लिए पाबंद किया गया था। इससे अंदेशा लगाया जा सकता है कि भजनलाल सरकार द्वारा अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई के आदेश को लेकर विकास अधिकारी को अतिक्रमण पर सख्ती बरतने वाले सचिव पसंद नही आ रहे हैं।

 

इनका कहना

वर्तमान में निर्माण कार्य को रूकवाया गया है ओर जब तक नई एनओसी के बीना अगर कार्य शुरू किया जाता है तो रूकवा देगे।

बबीदेवी, सरपंच ग्राम पंचायत दांतराई

संपादक: भवानी सिंह राठौड़ (फूलन)

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!