दो ट्रेनों का एलएचबी रैक से होगा संचालन,साबरमती-जैसलमेर व जोधपुर-साबरमती एक्सप्रेस की बढ़ेगी स्पीड और मजबूत होगी सुरक्षा

दो ट्रेनों का एलएचबी रैक से होगा संचालन,साबरमती-जैसलमेर व जोधपुर-साबरमती एक्सप्रेस की बढ़ेगी स्पीड और मजबूत होगी सुरक्षा
Spread the love

जैसलमेर

रेल प्रशासन द्वारा यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए दो और ट्रेनों का शनिवार से अत्याधुनिक एलएचबी रैक से संचालन प्रारंभ किया जा रहा है। जोधपुर डीआरएम पंकज कुमार सिंह ने बताया कि रेलवे द्वारा यात्री सुविधाओं के विस्तार के लिए समय-समय पर नवाचार किए जा रहे हैं जिसके तहत ट्रेनों को आईसीएफ की जगह एलएचबी रैक से संचालित करना भी प्रमुख है। डीआरएम पंकज कुमार सिंह ने बताया कि बताया कि ट्रेन 20485/20486, जोधपुर-साबरमती-जोधपुर एक्सप्रेस जोधपुर से 10 फरवरी और साबरमती से 12 फरवरी को एलएचबी रैक से संचालित की जाएगी। इसी प्रकार ट्रेन 20492/20491, साबरमती-जैसलमेर-साबरमती एक्सप्रेस साबरमती से 10 फरवरी और जैसलमेर से 11 फरवरी से एलएचबी रैक से चलना शुरू हो जाएगी। इन ट्रेनों में 1 सेकंड एसी, 6 थ्री टायर एसी, 7 स्लीपर, 4 जनरल और 2 पॉवर कार सहित 20 एलएचबी कोच होंगे। उन्होंने बताया कि ट्रेनों का एलएचबी संरचना में बदलने के बाद रेलयात्रियों को न सिर्फ अधिक सीटें उपलब्ध होगी बल्कि उनका सफर और अधिक सुगम होगा।

 

क्या होते हैं एलएचबी रैक

एलएचबी जर्मन तकनीक है। एलएचबी कोच ट्रेन में हो तो इसकी गति 160 से 180 किमी प्रति घंटे तक पहुंच सकती है। लिंक हॉफमेन बुश आपस में टकरा न सकते हैं। एलएचबी कोच मजबूत होते हैं अगर दुर्घटना हो जाती है तो नुकसान कम होता है। ये कोच एक-दूसरे पर भी नहीं चढ़ते जिससे यात्री सुरक्षित रहते हैं। इन कोचों का ओवरऑल मेंटेनेंस 3 साल में एक बार होता है। जबकि पारंपरिक कोच का मेंटेनेंस डेढ़ से लेकर दो साल में करवाना जरूरी होता है।

संपादक: भवानी सिंह राठौड़ (फूलन)

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!