अतिक्रमण हटाने में बरती अनियमितता ग्रामीणों में रोष, कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन।

अतिक्रमण हटाने में बरती अनियमितता ग्रामीणों में रोष, कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन।
Spread the love

रामसर

बुधवार को गागरिया स्टेशन पर अतिक्रमण हटाने में प्रशासन द्वारा बरती गई अनियमितता को लेकर ग्रामीणों ने रोष जताते हुए गुरुवार को जिला कलेक्टर को उचित कार्यवाही की मांग को लेकर ज्ञापन सौंपा। गुरुवार को बाड़मेर पहुंचे ग्रामीणों ने शिव विधायक रविन्द्रसिंह भाटी को पूरे मामले से अवगत करवाया। इस पर भाटी ग्रामीणों को लेकर जिला कलेक्टर कार्यालय पहुंचे। तथा कलेक्टर को पूरे मामले की जानकारी दे। उचित कार्यवाही की मांग की। शिव विधायक रविन्द्रसिंह भाटी ने कहा कि कलेक्टर ने मामले को गंभीरता से लेते हुए एक कमेटी गठित करने का आश्वासन दिया है। भाटी ने कहा कि किसी भी गरीब के साथ किसी भी प्रकार का कोई अन्याय नहीं होने दूंगा। ग्रामीण ईश्वरसिंह ने बताया कि हमारे खरीदसुदा व कब्जासुदा भूमि जिस पर हमारा कब्जा है। तथा दुकानें व पक्के घर बने हुए है। तथा विद्युत कनेक्शन भी जारी किये हुऐ है। उक्त भूमि हमे बच्चू, इनायत पिसरान कला द्वारा जरिये इकरारनामा बेचान गई थी। तब से हमारा स्वामित्व व आधिपत्य चला आ रहा है। उक्त भूमि के सबंध में तहसीलदार रामसर द्वारा एक राजस्व वाद धारा 177 राजस्थान भू राजस्व अधिनियम के तहत पेश किया गया था। जिस पर सहायक कलेक्टर रामसर ने विधिवत रूप मौके की जांच किये बिना ही दिनांक 11.03.2024 को निर्णय पारित कर विप्रार्थीगण को खातेदार काश्तकार घोषित किया गया है। जो की नियमविरूध हैं। दुकान मालिक सईद खान ने बताया कि कल दिनांक 26.06.2024 को उपखण्ड अधिकारी रामसर तथा तहसीलदार रामसर पुलिस जाब्ते के साथ में आये। तथा हमारे यहां पर बनी हुई दुकानों, ठेले लॉरी इत्यादी पर अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही कर उक्त दुकानों, ठेलों को जेसीबी के द्वारा पूरी तरह से तौड़कर बिखेर दिया। तथा हमारे द्वारा मना करने के बावजूद हमारे दुकानों को तोड़ दिया गया। उक्त सबंध में हमारे को पूर्व में कोई सूचना नहीं दी गई थी। ग्रामीणों ने बताया कि अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही के कारण हमारी दुकाने तथा ठेलों लॉरी को पूरी तरह से हटा दिये है जिसके कारण हम पूरी तरह से बेरोजगार हो गए है। इसलिए हमें किसी अन्य जगह पर कोई जमीन आवंटन किया जाए। तो वहां पर हम अपनी मजदूरी कर अपने परिवार भरण पोषण कर सकें। ग्रामीणों ने प्रशासनिक अधिकारियों पर आरोप लगाते हुए कहा कि उपखण्ड अधिकारी रामसर के द्वारा वहां के भू माफिओ से मिलीभगत कर अवैध कब्जे कर अवैध कॉलोनीया काट रहे है जिसके सबंध में हमारे द्वारा विरोध करने पर उपखण्ड अधिकारी के द्वारा हमें डराया तथा धमकाया जा रहा है।

संपादक: भवानी सिंह राठौड़ (फूलन)

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!