ग्राम पंचायत की लापरवाही से गंदगी में जीवन जीने को मजबूर ग्रामीण

ग्राम पंचायत की लापरवाही से गंदगी में जीवन जीने को मजबूर ग्रामीण
Spread the love

बकावंड

विकास खण्ड बकावंड के ग्राम पंचायत राजनगर मे ग्राम पंचायत द्वारा गंदा पानी ओर गंदगी के निकासी के लिए बनाई गई नाली खुद गंदगी का घर बन गया है। ग्रामीणों को गंदगी और बदबू के बीच में जिंदगी गुजारने में मजबूर होना पड़ रहा हैं। ग्राम पंचायत के द्वारा लाखों रुपए खर्च कर राजनगर के माहरापारा, सुंडी पारा से लेकर तालाब पारा तक नाली बनाई गई है। नाली निर्माण में गुणवत्ता और बहाव का ध्यान नही रखने के दुष्परिणाम लम्बे समय से देखने को मिल रहा है । नाली ठीक से नही बनाया गया है। गंदे पानी ओर गंदगी का बहाव हो पा रहा है। नालियों में गंदे पानी ओर कचरा और किचड़ का जमा हो गया है।नालियों सै उठती बदबू माहरापारा, सुंडी पारा, तालाब पारा के ग्रामीण का जिना मुहाल हो गया है। नालियों कै आस पास के घरों के लोग ठीक से भोजन भी नही कर पाते है। मारे गन्दगी व बदबू के माहौल से भोजन करते समय लोगो को ऊबकाई आने लगती है। वही नालियों में गंदे पानी में मच्छर की आबादी बढ़ गई है । मच्छर रात भर ग्रामीण को सोने नहीं दैतै है।मलेरिया का प्रकोप बड़ गया है। नालियों में पानी जाम रहने से बरसात के दिन में नाली का पानी ओर कचरा घरों के अंदर भी घुसता है। ओर नाली का पानी सड़क पर बहता रहता हैं । सड़क से आने जाने वाले ग्रामीण परेशान होते हैं। किचड़ ओर गंदगी कै चलते लोग बीमार पड रहे हैं। घरों में मच्छर व मक्खियों की भरमार से घर घर लोग बीमारी से परेशान हैं। पंचायत के लापरवाहीं के कारण से सरंपच ,सचिव के उदासीनता का खामियाजा ग्रामीण को भुगतना पड़ता है।

संपादक: भवानी सिंह राठौड़ (फूलन)

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!