सड़क पर बड़े-बड़े गड्ढों में जलभराव, सूखे की स्थिति में धूल से परेशान

सड़क पर बड़े-बड़े गड्ढों में जलभराव, सूखे की स्थिति में धूल से परेशान
Spread the love

जनता के दर्द से जिम्मेवारों को सरोकार नही, आखिर निजात कब?

मोकलसर

सड़क पर गहरे-गहरे गड्ढे बने हुए हैं, जिसमें जलभराव होने की वजह से गहराई का अंदाजा नही लग रहा हैं, ज्यादा दिनों तक पानी का भराव होने की वजह से मच्छर पनप रहे हैं जो की लोगों के बीमारियों का कारण बन रहे हैं। यहां आए दिन वाहन चालक चोटिल हो रहे हैं, वहीं सूखे की स्थिति में रेत के गुब्बार उड़ते रहते हैं। लेकिन इन तमाम समस्याओं से निजात दिलाने की दिशा में जिम्मेवारों द्वारा कोई ठोस कदम नहीं उठाया जा रहा हैं। इससे साफ प्रतीत होता हैं कि इन्हें जनता के दर्द से कोई सरोकार नही हैं। दरअसल सिवाना उपखंड क्षेत्र के मोकलसर गांव स्थित गौर के चौक के पास स्थिति बेहद खराब हैं। फिर भी सुविधाओं के नाम पर नरसाणा पर बने टोल प्लाजा पर डंके की चोट पर टोल वसूली की जा रही हैं। हालात यह हैं कि वाहनों का तो क्या आमजन का आवागमन भी दूभर हो गया हैं, जबकि यह नेशनल हाईवे 325 हैं, हालांकि बाईपास बन रहा हैं लेकिन वर्तमान में जिस रुट से यातायात संचालित हो रहा हैं वहां कोई ध्यान नही दिया जा रहा हैं। ऐसा भी नही है कि जिम्मेदार विभाग, प्रशासन या जनप्रतिनिधियों को इसकी जानकारी नहीं है। इसकी मरम्मत करवाने को लेकर कई बार मांग की गई मगर जिम्मेवारों द्वारा पुख्ता इंतजाम करने की बजाय हर बार मरम्मत के नाम पर खानापूर्ति ही कि जा रही हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि नालियों से निकले वाले गन्दे पानी का सड़क पर फैलाव होने के कारण सड़कों का टूटना लाजमी है, लेकिन पिछले लंबे समय से आमजन व वाहन चालकों को इस समस्या का सामना करना पड़ रहा है। वाहन चालकों की मानें तो विभाग द्वारा गड्ढो की मरम्मत कर वाहन चालकों व आमजन को इस समस्या से राहत दी जा सकती है, लेकिन अभी तक इस और कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। यहां का विभाग न तो दर्द समझ रहा है और न ही जनप्रतिनिधि इस ओर ध्यान दे रहे है। ऐसे में कस्बेवासियों व वाहन चालकों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

 

हादसे का सबब बने यह हालात, जिम्मेवारों ने आंखे मूंदी

बीते एक साल में लगातार दुर्घटनाओं में इजाफा हुआ है। वही सड़क पर गड्ढों होने से वाहन चालकों ध्यान नहीं रहता जिससे वह दूसरे वाहनों से टकरा रहे हैं। वही वाहनों को भी भारी नुकसान हो रहा है। वाहन चालकों के मुताबिक दिन के समय भी सड़क पर चलना मुश्किल हो गया है। गड्ढों में पड़े दूषित पानी के छींटे पैदल चलने वाले राहगीरों पर उछल रहे हैं। ये गड्ढे कब हादसे का सबब बन जाएं इस पर कुछ कहा नही जा सकता। गौरतलब हैं कि इस मार्ग से प्रतिदिन हजारों वाहन गुजरते हैं, बावजूद इसके समाधान की दिशा में कोई कदम नही उठाना जिम्मेवारों की कार्यशैली पर प्रश्नचिन्ह खड़ा कर रहा हैं। फिर भी आमजन को राहत दिलाने वाले कारिंदों ने आंखे बंद कर रखी हैं।

 

इनका कहना

मोकलसर स्थित गौर के चौक में बनी यह स्थित हरदम परेशानी का सबब बनी हुई हैं, इस रूट से प्रतिदिन हजारों वाहन गुजरते हैं, इसके बावजूद इसकी मरम्मत नही की जा रही हैं, यह गलत बात हैं, जिम्मेवार इसकी तुरंत मरम्मत करवाकर आमजन को राहत प्रदान करावें।

दिनेश भाटी, समाजिक कार्यकर्ता

संपादक: भवानी सिंह राठौड़ (फूलन)

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!