अपनी पॉलिसी अपने हाथ’ किसानों को फसल बीमा पॉलिसी वितरण 2 फरवरी से शुरू

अपनी पॉलिसी अपने हाथ’ किसानों को फसल बीमा पॉलिसी वितरण 2 फरवरी से शुरू
Spread the love

जून में जारी फसल बीमा अधिसूचना में पॉलिसी वितरण का प्रावधान हटाया

जोधपुर 

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना और मौसम आधारित फसल बीमा योजना की पॉलिसी अब किसानों के हाथों में पहुचेगी,जिससे फसल बीमा कंपनियों की मनमानी पर अंकुश लगेगा। वही बैंको और बीमा कंपनियों के बीच बीमा अटकने से नुकसान नही उठाना पड़ेगा। जुन माह में कृषि विभाग द्वारा फसल बीमा की अधिसूचना जारी की गई थी,जिसमें पूर्व में चले आ रहे फसल बीमा पॉलिसी वितरण के प्रावधान को हटा दिया था,जिसको लेकर भारतीय किसान संघ ने विरोध प्रकट भी किया था,लेकिन अधिसूचना में कोई परिवर्तन नही हुआ था। ऐसे में भारतीय किसान संघ की ओर से केंद्र सरकार के कृषि व किसान कल्याण मंत्रालय को राज्य कृषि विभाग की ओर से बीमा कंपनियों को पॉलिसी वितरण करने की अनिवार्यता खत्म कर कंपनियों को मनमानी करने की छूट देने को लेकर अवगत करवाया था। इस दौरान खरीफ सीजन में पॉलिसी वितरण नही हो पाया था।

अभी भारतीय किसान संघ की मांग पर 12 जनवरी को भारत सरकार की ओर से पॉलिसी वितरण करने के निर्देश दिए थे,जिस पर राज्य कृषि विभाग द्वारा 25 जनवरी को आदेश जारी कर प्रदेशभर पंचायत स्तर पर शिविर आयोजित कर फसल बीमा पॉलिसी वितरण करने का आदेश जारी किया था। संयुक्त निदेशक कृषि विस्तार जोधपुर द्वारा जिले की सभी तहसीलों में 2 फरवरी से 29 फरवरी तक पंचायत स्तर पर’मेरी पॉलिसी मेरे हाथ’ के संदर्भ में शिविर आयोजित करने का कार्यक्रम जारी किया है।

इसके संदर्भ में शुक्रवार को करवड़(मण्डोर)में पॉलिसी वितरण कार्यक्रम भी आयोजित किया गया 

 

 

भाकिसं ने नई फसल बीमा अधिसूचना में सुधार की रखी थी मांग

भारतीय किसान संघ की ओर 23 मई 2024 को जयपुर में कृषि सचिव पृथ्वी राज से मिलकर जून 2024 में फसल बीमा की नई जारी होने वाली अधिसूचना में किसान हित मे सुधार करने की मांग रखी थी,लेकिन कृषि विभाग ने योजना की संशोधित अधिसूचना में सुधार करने के बजाय पूर्व मे बीमा कंपनी द्वारा किसानों को फसल बीमा पॉलिसी वितरण करने के प्रावधान को ही हटा दिया था। इससे खरीफ सीजन में किसानों को फसल बीमा पॉलिसी वितरण नही की गई थी, जिससे किसानों को किस फसल का कितने रकबे का कितने प्रीमियम कितनी राशि का बीमा हुआ है,इसकी जानकारी नही मिल पाई थी।

 

बीमा पॉलिसी से किसानों को बीमित फसल व नुकसान में देय क्लेम की मिलेगी जानकारी

किसानों के हाथ मे जब फसल बीमा पॉलिसी आएगी ,तो किसानों को रबी सीजन की कौनसी फसल का कितने रकबे का बीमा हुआ है तथा नुकसान की स्थिति में कितना बीमा क्लेम मिल सकेगा उसकी जानकारी मिलेगी। वही व्यक्तिगत फसल खराब होने पर बीमा क्लेम दर्ज करवानें में भी बीमा पॉलिसी नम्बर तथा फसल की मांगी जाने वाली जानकारी होने से क्लेम दर्ज करवानें आसानी होगी।

 

जोधपुर जिले के फसल बीमा की फैक्ट फाइल

ऋणी किसानों की बीमा पॉलिसी संख्या – 186984

अऋणी किसानों की बीमा पॉलिसी संख्या – 11824

कुल बीमित राशि – 999.50 करोड़

कृषक हिस्सा प्रीमियम – 35.95 करोड़

कुल प्रीमियम – 74.30 करोड़

(कुल प्रीमियम में कृषक हिस्सा, राज्य सरकार व केंद्र सरकार का अनुदान शामिल)

 

खरीफ सिजन के दौरान जारी संशोधित फसल बीमा अधिसूचना में फसल बीमा पॉलिसी का प्रावधान हटा दिया था। जिससे खरीफ सिजन मे किसानों को बीमा पॉलिसी वितरण नही हुई थी। भारतीय किसान संघ की मांग पर केंद्र सरकार ने 12 जनवरी को पॉलिसी वितरण करवाने के आदेश जारी किए है। अब पॉलिसी वितरण से किसान फसल बीमा का।समुचित लाभ उठा पाएंगे।

 

तुलछाराम सिंवर प्रदेश मंत्री

भारतीय किसान संघ

संपादक: भवानी सिंह राठौड़ (फूलन)

Related articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Don`t copy text!